गंगा-जमुनी तहज़ीब: हिन्दू-मुस्लिम भाइयों ने मिलकर दी प्रवासी मजदूरों को ईदी, खिलाई सेंवई

जबलपुर।संदीप शर्मा

रमज़ान(ramzan) के पाक माह के अंतिम रोज़े पर मनाई जाने वाली ईद(eid) की चमक कोरोना(corona) काल मे ज़रा भी फीकी नही पड़ी। भले ही ईदगाहो पर ईद की नमाज़ अता न हो पाई हो लेकिन अल्लाह की इबादत का अनोखा तरीको अकीदतमंदो ने खोज निकाला। बेशक लाॅकडाउन(lockdown) का दौर चल रहा है। ऐसे मे कुछ हिन्दू(hindu) मुस्लिम(muslim) भाईयो ने मिलकर जबलपुर के एनएच7 पर गरीब ओर बेबस प्रवासी श्रमिको(migrant labourers) को लजीज सेंवई खिलाई और ईद की दिली मुबारकबाद दी।

गंगा जमुनी तहजीब का परिचय देते हुए हिन्दू-मुस्लिम भाईयो ने बकायदा मजदूरो को बैठाकर उन्हे सेंवई के मीठेपन के स्वाद को परोसा और अपनेपन का भी एहसास कराया। गौरतलब है कि लाॅकडाउन के दौर मे प्रवासी मजदूरो का अपने गनतव्य स्थान तक जाने का सिलसिला जारी है। नौतपा के इस तेज तपिश मे भी मजदूर बिना रूके मीलो का सफर तय कर रहा है। ऐसे मे इन जायरीनो ने इन गरीब तबके के लोगो का विशेष ध्यान रखते हुए रमज़ान के अंतिम रोज़े पर खुद को पीड़ित मानव्ता की सेवा मे समर्पित किया।