इंदौर।

इंदौर(indore) में कांग्रेस (congress) के विधायक जीतू पटवारी (jitu patwari) , संजय शुक्ला (sanjay shukla) के धरने प्रदर्शन के दौरान उनसे घुटने टेक कर बात करने वाले इंदौर के एसडीएम (sdm) राकेश शर्मा
और सीएसपी (csp) डीके तिवारी (d.k.tiwari) का आचरण राज्य सरकार (state government) को पसंद नहीं आया और आधी रात दोनों का तबादला लूप लाइन में भोपाल bhopal कर दिया गया।

दरअसल बीजेपी के विधायक (mla) सुदर्शन गुप्ता (sudarshan gupta) के ऊपर सोशल डिस्टेंसिंग social distancing की धज्जियां उड़ाने के मामले में कम धाराएं लगाने का आरोप लगाकर कांग्रेस ने शनिवार को इंदौर में धरना प्रदर्शन किया था जिसे हटवाने के लिए एडीएम के नेतृत्व में एसडीएम और सीएसपी वहां पहुंचे थे ।जमीन पर बैठकर धरना दे रहे जीतू पटवारी से जब एसडीएम और सीएसपी बात करने लगे तो वे दोनों भी घुटनों पर आ गए और उनकी यह तस्वीर सोशल मीडिया सहित सभी जगह वायरल हो गई ।

एमपी ब्रेकिंग में भी सबसे पहले इस खबर को प्रमुखता के साथ “शिव राज में कांग्रेसियों के सामने घुटनों पर प्रशासन” के नाम से प्रसारित किया था। दोनों अधिकारियों के इस आचरण को कलेक्टर (colector) मनीष सिंह (manish singh) ने बेहद गंभीरता से लेते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था लेकिन पूरा मामला जब राज्य सरकार के सामने पहुंचा तो सरकार ने फैसला किया कि इन दोनों अधिकारियों को अब इंदौर में नहीं रखना चाहिए और इसलिए एसडीएम का तबादला सामान्य प्रशासन विभाग के पूल में भोपाल और डीके तिवारी सीएसपी का तबादला पुलिस मुख्यालय भोपाल कर दिया गया

कांग्रेसियों के सामने घुटने टेकने वाले अधिकारियों से नाराज हुई सरकार, आधी रात को किया तबादला