त्योहारी सीजन में सरकारी कर्मचारियों को झटका, मध्य प्रदेश में अब वर्क फ्रॉम होम ख़त्म

sarkari karmchari

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| त्योहारी सीजन में सरकार कर्मचारियों (Government Employee) को बड़ा झटका लगा है| सात महीने बाद मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) ने वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) की व्यवस्था पूरी तरह खत्म कर दी है। अब सभी सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों को दफ्तर जाना होगा| कोरोना काल में अब तक कई कर्मचारी घर से ही दफ्तर (Office) का काम कर रहे थे|

मध्य प्रदेश सरकार ने अनलॉक-5 के निर्णय के मद्देनजर सरकारी कर्मचारियों को शत-प्रतिशत ऑफिस में अपनी उपस्थिति के निर्देश जारी किए हैं। इसे तत्काल प्रभाव से लागू करा दिया गया है। साथ ही आदेश के साथ ही कुछ गाइडलाइन भी जारी की है जिसका पालन करना अनिवार्य होगा| इसमें मुख्य रूप से कहा गया है कि कार्यालय में काम के दौरान कर्मचारी किसी भी स्थिति में मास्क नहीं उतार सकता है|

त्योहारी सीजन में झटका
बता दें कि अब तक सरकारी कार्यालयों में 50 फीसदी कर्मचारियों को बारी-बारी बुलाया जा रहा था। कर्मचारी अभी घर से ही दफ्तर का काम कर रहे थे| विभिन्न विभागों द्वारा लगातार कार्यालय में कार्य क्षमता में वृद्धि की जरूरत बताई जा रही थी। इसलिए अब अधिकारियों के ही समान सभी कर्मचारियों को भी ऑफिस में उपस्थित होना होगा। त्योहारी सीजन में सरकारी कर्मचारी घर से काम करते हुए घर के काम भी निपटा लेते थे, आने वाले समय में दिवाली है, जिसके कामकाज अब अब घर पर रहकर कर्मचारी नहीं कर पाएंगे उन्हें ऑफिस जाना ही होगा| बता दें कि मध्यप्रदेश में करीब साढ़े चार लाख कर्मचारी हैं, इन सभी पर इस आदेश का असर पढेगा।

इन नियमों का करना होगा पालन
शासन ने गाइडलाइन भी दी है, प्रत्येक कर्मचारी के लिए अनिवार्य होगा कि वह कार्यलयीन अवधि में मास्क से मुँह एवं नाक ढंककर रखें तथा बात करते समय मास्क को नीचे न करें। कार्यालयों में सोशल डिस्टेसिंग के लिए परस्पर पर्याप्त दूरी रखें। सम्पर्क में आने वाली सतहें, दरवाजों के हैंडल, हैंण्डरेल, शौचालय इत्यादि को नियमित रूप से सेनेटाईज किया जाए। अभिवादन के लिए आपस में हाथ न मिलायें तथा एक साथ बैठकर चाय/भोजन इत्यादि न करें। नियमित रूप से साबुन-पानी तथा एल्कोहल युक्त हैण्ड सेनेटाईजर का उपयोग करें। कोविड-19 संबंधी कोई भी लक्षण जैसे सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार सांस लेने में तकलीफ आदि के लक्षण हों तो तत्काल फीवर क्लीनिक में परीक्षण करायें तथा संबंधित कार्यालय प्रमुख को सूचित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here