MP School: 1 दिसंबर से खुलेंगे मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूल, गाइडलाइन जारी

लोक शिक्षण संचालनालय कमिश्नर ने गाइडलाइन जारी की है। इतना ही नहीं पिछले साल इस कक्षा में पढ़ा रहे अतिथि शिक्षकों को भी वापस बुलाया गया है।

MP News

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में कोरोना (corona) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने का फैसला किया है। हालांकि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा संचालित शासकीय विद्यालय (Government school) को खोले जाने पर सहमति बन गई है। जहां 1 दिसंबर 2020 से शासकीय विद्यालय को खोले जाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए गाइडलाइन भी जारी कर दिया गया है।

दरअसल मध्य प्रदेश सरकार द्वारा संचालित शासकीय विद्यालय को 1 दिसंबर 2020 से खोलने की तैयारी पूरी हो चुकी है। जिसको लेकर लोक शिक्षण संचालनालय कमिश्नर ने गाइडलाइन जारी की है। इतना ही नहीं पिछले साल इस कक्षा में पढ़ा रहे अतिथि शिक्षकों को भी वापस बुलाया गया है।

बता दे कि डीपीआई कमिश्नर की गाइडलाइन के मुताबिक

* 1 दिसंबर से नवमी से 12वीं तक की कक्षाएं लगेगी जिसको लेकर विद्यालय की साफ-सफाई और पुस्तकालय आदि को क्रियाशील रखने के निर्देश दिए गए हैं।

* गाइडलाइन में यह भी कहा गया है कि जिन विद्यालयों में पर्याप्त जगह नहीं है। वहां बच्चों को SOP का पालन करते हुए बुलाया जाना चाहिए।

* इसके अलावा डिजिटल क्लासरूम कार्यक्रम के माध्यम से अध्ययन लगातार जारी रहेंगे।

* वहीं जिन विद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या ज्यादा है वहां 10वीं और 12वीं की कक्षा 4 दिन और 9वमी और 11वीं की कक्षा 2 दिन संचालित की जाएगी।

Read More: फर्जी राशन कार्ड मामला: कमिश्नर का एक्शन, सहायक आपूर्ति अधिकारी सस्पेंड

इसके साथ ही अतिथि शिक्षक और प्राचार्य के लिए भी निर्देश जारी किए गए। गाइडलाइन के मुताबिक :

* सभी शिक्षकों को विद्यालय में नियमित रूप से उपस्थित रहना अनिवार्य होगा।

* इसके अलावा शिक्षक और प्राचार्य के किसी भी प्रकार के अवकाश को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

* इस मामले में डीपीआई कमिश्नर का कहना है कि हायर सेकेंडरी में गत वर्ष कार्य कर रहे अतिथि शिक्षक ही फिर से रखे जाएंगे। इसके लिए नवीन आवेदन नहीं लिया जाएगा।

* इसके साथ ही लोक शिक्षण संचालनालय कमिश्नर की ओर से जारी गाइडलाइन में कहा गया कि जिन विषयों के अतिथि शिक्षक नहीं मिलेंगे उन विद्यालय से पास कुछ योग्यताधारी शिक्षक ड्यूटी पर लगाए जाएंगे।

  • साथ ही शासकीय स्कूलों के प्राचार्य को 15 दिसंबर तक प्रमाण पत्र देना होगा कि उनके स्कूल में सभी विषय के शिक्षक उपलब्ध हो गए हैं।

परीक्षाओं को लेकर निर्देश

* लोक शिक्षण संचालनालय कमिश्नर गाइडलाइन के मुताबिक नौवीं एवं 11वीं की परीक्षा अगले माह में संचालित की जाएगी।

* वही कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए सभी कक्षाएं संचालित की जाएगी।

* कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा मार्च व अप्रैल माह में प्रस्तावित की गई है।

* इसके अलावा शिक्षक को तीन महीने की समय सारणी जारी की जाएगी।

* वहीं रविवार और अवकाश के दिनों में भी अध्ययन अध्यापन का कार्य जारी रहेगा।

* इसके अलावा सभी प्राचार्यों को 5 दिसंबर, 29 जनवरी, 28 फरवरी को परेंट टीचर मीटिंग करना अनिवार्य होगा।

* वहीं माता पिता से चर्चा के बाद ही बच्चों को स्कूल बुलाया जाएगा।