MP उपचुनाव 2020 : मतदाता खमोश, गोविन्द सिंह राजपूत और पारुल साहू को चिंता

अंतिम क्षणों तक BJP और कांग्रेसी (Congress) कार्यकर्ताओं ने जी तोड़ मेहनत की लेकिन मतदाताओं की खामोशी ने भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी परेशानी में डाल दिया है हालांकि भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने-अपने जीत का दावा कर रहे हैं।

सुरखी, ब्रजेन्द्र रैकवार। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सागर जिले (Sagar) की सुरखी विधानसभा (Surkhi Assembly) में मतदाताओं (Voters) ने भारी उत्साह के बीच मतदान (Vote) तो किया लेकिन मतदान करने के बाद मतदाताओं मे जोश नहीं दिखा। मतदाता मंगलवार (Tuesday) को मतदान करने के बाद सीधे अपने घर पहुंचे, इसी के साथ ही महिला मतदाताओं में भी खासा उत्साह देखने को मिला लेकिन वह भी मतदान करने के बाद खामोश दिखी और कहीं ना कहीं यह खामोशी दोनों प्रमुख दलों के प्रत्याशियों को परेशानी में डाले हुए हैं

वही 3 नवबंर (3 November) को मतदान के बीच भाजपा उम्मीदवार गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) और कांग्रेस उम्मीदवार पारुल साहू ( Parul Sahu) ने मतदान केंद्रों (Polling Booth) का निरीक्षण किया मतदाताओं से भी बात की,और दोनों ही प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत का दावा ठोक रहे हैं लेकिन किसके दावे में कितना दम है यह तो 10 नवंबर (10 November) को सभी के सामने आ जाएगा।

एक नजर वोटिंग प्रतिशत पर 

सुरखी विधानसभा के मतदाताओं में सुबह से ही काफी उत्साह देखने को मिला सुबह 9:00 बजे तक 13.44% मतदान हो गया था जिसमें 18% पुरुष और 8% महिलाओं ने मतदान किया, इसके बाद सुबह 11:00 बजे तक 29.50% मतदान हुआ जिसमें 36% पुरुष और 21.76% महिलाओं मतदान किया, वहीं दोपहर 1:00 बजे तक 46% मतदान संपन्न हुआ जिसमें 54% पुरुष और 36.47% महिलाओं ने वोट डाला, उसके बाद दोपहर 3:00 बजे तक 62.22% मतदान हुआ जिसमें 66% पुरुष और 57.73% महिलाओं (Womens) ने वोट डाला, तो वही दोपहर 5:00 बजे तक 70.55% वोट डाली का जिसमें 74% पुरुष और 65.25% महिलाओं ने वोट डाला इसके बाद शाम 5:00 बजे से लेकर 6:00 बजे तक 1 घंटे के बीच बहुत ही कम प्रतिशत में मतदान हुआ और शाम 6:00 बजे तक 71.97% मतदान सुरखी विधानसभा में हुआ, जिसमें 74.81% पुरुष मतदाताओं ने अपने मताधिकार किया वहीं 68.59% महिला मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया ।

मतदाताओं में दिखा काफी उत्साह

वही देखा जाए तो सुबह से पुरुष और युवा मतदाताओं (Young Voter) में खासा उत्साह देखने को मिला वही दोपहर बाद जब महिलाएं घर के कामकाज से फुर्सत हो गई तो महिला मतदाताओं में खासा उत्साह देखने को मिला लेकिन शाम के अंतिम 1 घंटे में बहुत ही कम 1 फ़ीसदी मतदान हुआ! ग्रामीण मतदाताओं का कहना था कि इस समय उनकी खेती किसानी का काम चल रहा है इस वजह से उन्होंने सुबह से ही मतदान कर दिया था लेकिन जब मतदाताओं से उनके वोट के बारे में पूछा गया तो मतदाता खामोश रहे यह पहली बार ऐसा सुरखी विधानसभा क्षेत्र में देखने को मिला है, जब मतदाता वोट डालने के बाद सीधे अपने घर गए खामोश रहे और किसी से कुछ नहीं कहा।

खामोशी ने बढ़ाई चिंता

ऐसे में सवाल खड़े हो रहे है कि आखिर मतदाताओं की खामोशी का किस ओर इशारा कर रही है यह तो 10 नवंबर को सामने आ जाएगा, वहीं अंतिम क्षणों तक BJP और कांग्रेसी (Congress) कार्यकर्ताओं ने जी तोड़ मेहनत की लेकिन मतदाताओं की खामोशी ने भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी परेशानी में डाल दिया है हालांकि भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने-अपने जीत का दावा कर रहे हैं।

कलेक्टर-एसपी ने किया  मतदाताओं का आभार व्यक्त 

वही मतदान समाप्ति के बाद दोनों प्रमुख दलों के उम्मीदवारो ने मतदाताओं का आभार व्यक्त भी किया और शांतिपूर्ण तरीके से मतदान के लिए जिला कलेक्टर (Sagar Collector) एवं निर्वाचन अधिकारी दीपक सिंह (Election Officer Deepak Singh) और पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह (Sagar SP Atul Singh) ने भी मतदाताओं, प्रत्याशियों और चुनाव ड्यूटी (Election duty में कार्यरत अधिकारी कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया और बेहद शांतिपूर्ण तरीके से और मतदाताओं की खामोशी के बीच यह उप चुनाव संपन्न हुआ!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here