ग्वालियर अग्निकांड: पीड़ित परिवार तक पहुँची आर्थिक सहायता, कमजोर फायर सिस्टम पर उठे सवाल

ग्वालियर।अतुल सक्सेना

सोमवार को हुए भीषण अग्निकांड में एक ही परिवार के सात सदस्यों की मौत के बाद मुख्यमंत्री द्वारा घोषित की गई आर्थिक सहायता राशि के चैक सौंपने आज जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधि पहुंचे और पीड़ित गोयल परिवार को 28 लाख की सहायता के दस्तावेज सौंपे। इस मौके पर बहादुरी का परिचय देकर बच्ची की जा बचाने वाले युवक को नगद राशि देकर सम्मानित किया गया।

इंदरगंज चौराहे के पास रोशनी घर रोड पर रहने वाले गोयल परिवार को आज प्रशासन ने सहायता राशि उपलब्ध कराई। सोमवार को परिवार की दुकान गोयल पेंट हाइस में हुए भीषण अग्निकांड में इस परिवार के सात सदस्यों की मौत हो गई थी।जिसमें तीन मासूम और चार महिलाएं शामिल हैं। घटना के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रत्येक मृतक के परिजन को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी। मंगलवार को कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल, भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी आदि पहुंचे और गोयल परिवार को 28लाख की सहायता राशि के दस्तावेज सौंपे।

पीड़ित परिजन हरिओम गोयल ने बताया कि यदि फायर ब्रिगेड समय पर आ जाती और उसपर संसाधन होते तो हो सकता है कि कुछ जिंदगियाँ बच जाती। उन्होंने बताया कि करीब 45 मिनट बाद पहली फायर ब्रिगेड आई जिसके पास सीढ़ी भी नहीं थी। पूर्व विधायक गोयल ने भी कहा कि हमारा फायर सिस्टम बहुत कमजोर है इसे हाईटेक करने की जरूरत है। इसके लिए संभाग आयुक्त सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को मैंने पत्र लिखा है। हमें इस घटना से सबक लेने की जरूरत है। उधर कलेक्टर ने भरोसा दिया कि नगर निगम आयुक्त से चर्चा कर फायर सिस्टम को सुधारा जायेगा। इस मौके पर पूर्व विधायक गोयल ने अग्निकांड में बहादुरी दिखाकर बच्ची की जान बचाने वाले युवक महेश बाथम को शाबासी दी और उस पांच हजार रुपये की नगद राशि देकर सम्मानित किया।