मध्यप्रदेश में आफत की बारिश, मुख्यमंत्री ने हेलीकॉप्टर से लिया जायजा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लगातार हो रही बारिश (Rain) के कारण कई जिलों में बाढ़ (Flood) जैसी स्थिति बन गई है| नदी-नाले उफान पर आ गए है, बांधों के गेट खोल दिए गए है, जिसके चलते निचली बस्तियों में जलभराव हुआ है| प्रदेश में हो रही अतिवर्षा से उत्पन्न विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh CHauhan) ने बैठक की। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें तैयार हैं। वहीं सीएम ने हवाई दौरा कर भारी बारिश से प्रभावित सीहोर और होशंगाबाद जिलों के नर्मदा नदी के किनारे स्थित क्षेत्रों की स्थिति का जायजा लिया।

सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा ‘प्रदेश के कुछ बाढ़ग्रस्त इलाकों का मैंने आज हवाई सर्वेक्षण किया है। प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है, बचावकार्य के लिए तैयार है। सभी टीमों को एलर्ट कर दिया गया है। आप सभी लोग सावधानी बरतें। समस्या होने पर हेल्पलाइन नंबर 1079 या 100 पर कॉल करें। ’

सहायता या आपात स्थिति के लिए डायल 100 व 1079 पर करें कॉल
सीएम ने कहा कि कोरोना के बीच अतिवृष्टि की चुनौती भी आ गई है। मैं यह आपको केवल सावधान करने के लिए कह रहा हूं। आप बिल्कुल चिंतित ना हों। हमारी एसडीआरएफ की टीमें सक्रिय हैं और जहां जरूरत है, वहां एनडीआरएफ की टीमें भेज रहे हैं। सेना और एयरफोर्स को भी हमने सतर्क कर दिया है। जिलों और राज्य के आपदा प्रबंधन के कंट्रोल रूम चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। किसी भी प्रकार की सहायता या आपात स्थिति की सूचना देने के लिए डायल 100 व 1079 पर कॉल कीजिये।
आप जरा भी चिंता न करें। आपात स्थिति से निपटने के लिए हेलीकॉप्टर, गोताखोर, बोट आदि की पर्याप्त व्यवस्था है।

लोगों से अपील
मुख्यमंत्री ने अपील करते हुए कहा कि एक प्रार्थना है कि सड़क, पुल, पुलिया पर बाढ़ का पानी होने की स्थिति में आप उसे पार करने से बचें। बाँधों के गेट खोलने से पूर्व प्रशासन द्वारा नागरिकों को सूचित किया जा रहा है। कृपया सूचनाओं को गंभीरता से लें। चिंता ना करें। इस संकट से आपको पार निकालकर ले जायेंगे।