बदलते मौसम ने जामा मस्जिद की मीनार को पहुंचाई क्षति, इमाम ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

मस्जिद के दाहिने ओर स्थित मीनार से एक बड़ा बलुआ पत्थर (sandstone) का बड़ा भाग नीचे आंगन में आ गिरा।

जामा मस्जिद

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। दिल्ली स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद (historic jama masjid) की मीनार (minaret) तेज हवाओं और बारिश की मार के चलते क्षतिग्रस्त (damage) हो गयी। शुक्रवार की दोपहर दिल्ली (delhi) में तेज आंधी और बारिश के बीच ये नुकसान हुआ। मस्जिद के दाहिने ओर स्थित मीनार से एक बड़ा बलुआ पत्थर (sandstone) का बड़ा भाग नीचे आंगन में आ गिरा। गनीमत ये रही कि लॉकडाउन (lockdown) के चलते वहां पर कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था जिससे किसी को कोई चोट नहीं पहुंची।

यह भी पढ़ें… राज्य सरकार की इस योजना पर केंद्र सरकार ने लगाए ब्रेक

मीनार के क्षतिग्रस्त होने के बाद मस्जिद के इमाम ने इस सिलसिले में पीएम मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने पीएम मोदी से क्षतिग्रस्त हुई मीनार की मरम्मत और 17वीं शताब्दी में मुग़लों द्वारा बनवाए गए इस नायाब स्मारक के संरक्षण हेतु काम करवाने की मांग की है।

इस मस्जिद को बनाने के लिए बलुआ पत्थर और संगमरमर का इस्तेमाल किया गया था। इसे 1656 में मुग़ल शासक शाहजहां ने बनवाया था। शुक्रवार को बदले मौसम में चली तेज हवाओं के थपेड़ों और तेज बारिश के बीच मीनार से बलुआ पत्थर का एक बड़ा हिस्सा टूट कर नीचे गिर गया। आंगन के जिस भाग में ये हिस्सा गिरा वहां प्रभाव इतना ज़ोरदार था कि उस स्थान पर गड्ढा हो गया।

यह भी पढ़ें… MP School: कई विकल्प तैयार, मंत्री ने बताया- इस महीने से खुलेंगे स्कूल

इमाम बुखारी ने बताया कि दोपहर को नमाज़ के वक्त ये हादसा हुआ। हालांकि लॉकडाउन के चलते मस्जिद बंद है लेकिन मैं अपने स्टाफ के साथ यहां मौजूद था। जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक़्त हम सब मस्जिद के अंदर नमाज़ पढ़ रहे थे।