विस उपाध्यक्ष के पद को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान, हलचल तेज

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बीजेपी की परंपरा रही है कि यहां संगठन से विचार-विमर्श कर कार्य किया जाता है। अन्य पार्टियों की तरह किसी एक के हाथ में निर्णय नहीं सौंपी जाती है।

नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pardesh) में कल 22 फरवरी से विधानसभा का बजट सत्र (budget session) शुरू हो रहा है। इससे पहले अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के चुनाव के लिए गतिविधियां तेज हो गई है। बीजेपी (bjp) ने जहां विधानसभा अध्यक्ष के लिए गिरीश गौतम (girish gautam) के नाम पर सहमति दे दी है। वहीं दूसरी तरफ उपाध्यक्ष पद अभी भी चर्चा का विषय बनी हुई है। इस पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) का बड़ा बयान सामने आया है।

दरअसल मीडिया से बात करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अपने कार्यकाल के दौरान तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उपाध्यक्ष पद को अपने पास रखकर वर्षों से चली आ रही परंपरा को तोड़ा था। आज हम उन्हीं के बताए रास्ते पर चल रहे हैं। इसके साथ ही गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा की विधानसभा उपाध्यक्ष पद किसे दिया जाएगा। इसका फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) और भाजपा संगठन करेगी।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक परिवार की पार्टी नहीं बल्कि संगठन की पार्टी है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बीजेपी की परंपरा रही है कि यहां संगठन से विचार-विमर्श कर कार्य किया जाता है। अन्य पार्टियों की तरह किसी एक के हाथ में निर्णय नहीं सौंपी जाती है।

Read More: MP News: HC की सख्ती, कांग्रेस नेता पर लगाया 5000 रूपए का जुर्माना, यह है मामला

वही बंगाल चुनाव पर बोलते हुए गृह मंत्री रहते मिश्रा ने कहा कि बंगाल चुनाव में ममता दीदी की बौखलाहट साफ नजर आ रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष पर हमला निंदनीय है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ममता दीदी सोचती है कि हिंसा से बंगाल के बीजेपी कार्यकर्ता डर जाएंगे।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा भाजपा कार्यकर्ता डरने वाले नहीं है बंगाल की जनता बंगाल में कमल खिलाने का मन बना चुकी है। वहीं ममता बनर्जी (mamta banerjee) द्वारा खुद को बंगाल की बेटी बताए जाने के बयान पर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस चुनाव में बेटी की विदाई का वक्त आ गया है और यह बंगाल की जनता अच्छे से जानती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here