गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का कमलनाथ से सवाल- “जवाब दें, जिस पूर्व मंत्री पर केस हुआ क्या वह झूठा है”

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

भोपल। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी (Former Minister Jitu Patwari) पर हुई एफआईआर (FIR) के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) द्वारा सरकार को चेतावनी देते हुए सड़क पर उतारने के बयान पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कमल नाथबार बार सड़क पर उतने के जिक्र कर देते है। कमलनाथ को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कमलनाथ कभी जनता के दिल में भी उतरने की बात करिये, छिंदवाड़ा (Chhindwara) के बाहर भी संसार है उसको देखिए। उन्होंने कमलनाथ से कहा कि सड़क शब्द आप के लिए बड़ा परहेज वाला है, बहुत नुकसान करता है। उन्होंने कहा आदरणीय सिंधिया जी को आप ने कहा आ जाओ सड़क पर, जिसके बाद पूरी सरकार ही सड़क पर आ गई। गृह मंत्री ने कहा एक बात जरूर कमलनाथ से पूछूंगा, जिस विषय को लेकर वह सड़क पर आने की बात कर रहे हैं क्या एक भी कार्यकर्ता ऐसा है जिस पर झूठा केस लग गया है? कमलनाथ जवाब दें कि जिस पूर्व मंत्री पर केस लगा है क्या वह झूठा लगा है? उन्होंने कहा कमलनाथ मेरे पास आए मैं बताता हूं कि 15 महीनों की आप की सरकार में किस तरह आप लोगों ने झूठे केस लगाएं। उन्होंने कहा मैं स्वयं चश्मदीद हूं और साक्षी हूं।

15 महीनो में किसे रोजगार दिया
कांग्रेस के रोजगार अभियान पर ग्रहमंत्री ने कहा कि, कांग्रेस उठाये रोजगार के मुद्दे हम सिर झुकाकर स्वीकार करेंगे, लेकिन कांग्रेस ये बताए कि पन्द्रहा महीनों की उनकी सरकार में क्या किसी एक को भी उन्होंने रोजगार दिया है? उन्होंने कहा कांग्रेस के घोषणा पत्र में था रोजागर देना उसका क्या हुआ? वहीं उन्होंने डीजल-पेट्रोल के दाम कम करने पर कहा कि, कांग्रेस के घोषणा पत्र में था डीजल और पेट्रोल के दाम कम करेंगे हमारे घोषणा पत्र में तो नही था। गृहमंत्री ने कहा, कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कहा था कि डीजल और पेट्रोल के दाम कम करेंगे लेकिन और बढ़ा दिए। उनके घोषणा पत्र में था कि बेरोजगारी भत्ता देंगे वह नहीं दिया। उनके घोषणा पत्र में था कि रोजगार देंगे उन्होंने नहीं दिए। गृह मंत्री ने कहा इसमें हम कहां पिक्चर में आ रहे हैं।

बेटियों ने मुंडवा दिए थे सिर
पीसीसी चीफ कमलनाथ के आदिवासियों को योजना बनाने को लेकर गृहमंत्री ने कहा कांग्रेस की जब 15 महीने की सरकार थी तब आदिवासियों के लिए क्या किया यह जरूर बताएं। आपने ऐसे ही कह कर मध्य प्रदेश की जनता को छला कि हमारी सरकार बनी तो 10 दिन के अंदर किसानों का 2 लाख का कर्जा माफ कर देंगे, लेकिन कर दिया क्या यह जवाब दो। उन्होंने कहा था हर घर बैठे नौजवान को चार हज़ार रुपए देंगे लेकिन नहीं दिए। गृह मंत्री ने कहा कांग्रेस इसका जवाब दे उसके बाद बेरोजगारी की बात करें। गृह मंत्री ने कहा वह लोग बेरोजगारी की बात कर रहे हैं जिन के समय में बेटियों ने सिर मुंडवाए थे।

कोरोना से सिर्फ सावधानी के माध्यम से बचा जा सकता है
मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना के संक्रमण को लेकर गृहमंत्री ने कहा कोरोना पूरे हिंदुस्तान और विश्व को अपनी चपेट में ले कर उसी गति से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, हिंदुस्तान में सर्वाधिक कोरोना के केस कल आए हैं। कोरोना से सिर्फ सावधानी के माध्यम से ही बचा जा सकता है। उन्होंने कहा मीडिया के माध्यम से जनता तक बात पहुंचाना चाहूंगा कि केंद्र की गाइड लाइन का पालन करें। क्योंकि यह त्योहारों का महीना है लगातार एक-दो महीने तक त्यौहार ही त्यौहार है। इसलिए जनता से प्रार्थना है कि कोई भी गणेश जी की प्रतिमा को सार्वजनिक स्थान पर ना लगाएं। घर में रह कर ही पूजन करें। उन्होंने कहा ना तो जुलूस निकलेगा, ना ताजिए निकलेंगे और ना ही नव दुर्गा की झांकियां लगेगी। कोई भी राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक कार्यक्रम नहीं होगा। किसी प्रकार के भंडारे नहीं होंगे। उन्होंने कहा जो केंद्र की गाइड लाइन में पांच की बाध्यता है वह यथावत जारी रहने वाली है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here