Gang rape : सीधी में हैवानियत की हदें पार, गृह मंत्री बोले- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

गैंगरेप (Gang Rape) की वारदात को लेकर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने कहा कि सारे के सारे आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। दोषियों को सजा जल्द से जल्द दिलाई जाएगी।

सीधी,डेस्क रिपोर्ट। सीधी (Sidhi) जिले से रूह को कपा देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक विधवा औरत (Widow) के साथ हैवानियत की हदें पार करते हुए गैंगरेप (Gang Rape) की घटना को अंजाम दिया, साथ ही उसके प्राइवेट पार्ट (Private Part) में सरिया डाल दिया गया। पीड़िता को प्राथमिक उपचार (First Aid) के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिसके बाद उसे वहां से रीवा के संजय गांधी अस्पताल (Sanjay Gandhi Hospital) में भर्ती करा दिया गया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार (Accused Arrested) कर लिया है। वहीं सीधी में हुई गैंगरेप (Gang Rape) की वारदात को लेकर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने कहा कि सारे के सारे आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। दोषियों को सजा जल्द से जल्द दिलाई जाएगी।

 

पूरा मामला शनिवार रात 10 बजे का है। महिला अपने दो बच्चों के साथ रहती है। महिला अपने और अपने बच्चों के पालन पोषण के लिए झोपड़ी में ही एक चाय की दुकान चला कर अपने परिवार का पेट भरती है। महिला के पति की मृत्यु को 4 साल बीत चुके हैं। पूरी घटना शनिवार रात सीधी जिले के अमिलिया थाना क्षेत्र की है जहां लालू नाम के युवक ने पीड़िता से शनिवार रात आवाज लगाकर पानी मांगा, जिसके बाद महिला ने जवाब देते हुए कहा कि पानी नहीं है। महिला के मना करने के बावजूद लालू के साथ भाईलाल पटेल और एक अन्य युवक महिला की झोपड़ी में जबरदस्ती घुस गए, जिसके बाद तीनों ने एक-एक करके पीड़िता के साथ गैंगरेप (Gang rape) किया। इतना ही नहीं हैवानियत की हद पार करते हुए उसके गुप्तांग में लोहे का सरिया डाल दिया।

पूरी गैंगरेप (Gang rape) वारदात से समय महिला की बहन झोपड़ी में मौजूद थी, लेकिन आसपास बस्ती ना होने के चलते उसकी चीख किसी ने सुनाई नहीं दी और कोई भी उसकी मदद के लिए नहीं आया। वारदात के बाद पीड़िता की बहन पीड़िता को लेकर थाने पहुंची, जहां बेहोशी की हालत में महिला को पुलिस द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। खून बह जाने के कारण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उसकी हालत में सुधार नहीं आया, जिसके बाद उसे सीधी जिला अस्पताल भेज दिया गया। पीड़िता की हालत इतनी खराब थी कि सीधी जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे रीवा के संजय गांधी अस्पताल रेफर कर दिया। वही ठंड से कांप रही महिला को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने अपना शॉल और जैकेट पहना कर उसे रीवा संजय गांधी अस्पताल भेजा। वहीं अमिलिया पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 376, 324,452, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही रेड क्रॉस की तरफ से महिला को तत्काल 1 लाख रुपए की मदद दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here