Budget 2023: कैसे समझें बजट डॉक्यूमेंट

Budget 2023: वित्तीय वर्ष के प्राइमरी बजट गोल्स के लिए बजट डॉक्यूमेंट का उपयोग एक रेफेरेंस टूल के रूप में किया जाता है।

Budget 2023: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को केंद्रीय बजट पेश करेंगी। वित्त मंत्री बजट की शुरुआत करने के लिए भाषण देती हैं। भले ही यह बजट डॉक्यूमेंट का एक छोटा सा हिस्सा है, पर भाषण बजट का सबसे महत्वपूर्ण पहलू होता है।

बजट डॉक्यूमेंट: Part A, Part B 

आने वाले वित्तीय वर्ष के लिए सुधार स्ट्रेटेजी और वित्त मंत्री की प्रिडिक्शन्स part A में प्रस्तुत की गई हैं। इसमें कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, बड़े और छोटे व्यवसायों, सर्विस इंडस्ट्री, स्टार्टअप, सहित विभिन्न प्रकार के उद्योगों के लिए नियोजित योजनाएं और उपाय शामिल हैं। वित्‍त मंत्री द्वारा डिसइनवेस्टमेंट और घाटे को कम करने जैसे कुछ बजटीय लक्ष्‍यों को भी बजट डॉक्यूमेंट में सार्वजनिक किया जाता है।

डायरेक्ट और इंडिरेक्ट टैक्स अनाउंसमेंट part B में शामिल हैं (जीएसटी एक्सेप्शन के साथ, जो बजट द्वारा कवर नहीं किया गया है लेकिन जीएसटी परिषद द्वारा तय किया गया है)। यह सेक्शन टैक्स स्लैब, कॉर्पोरेट टैक्स, कैपिटल गेन टैक्स, कस्टम और एक्साइज टैक्स में किसी भी संशोधन की घोषणा करता है। अटैचमेंट , जिसमें विभिन्न मंत्रालयों, कार्यक्रमों और योजनाओं पर टैक्स अनाउंसमेंट और बजटीय एक्सपेंस का सारांश शामिल है, part B का हिस्सा होता है।

सरकार के कैपिटल एक्सपेंसेस ,एडमिनिस्ट्रेटिव/ प्रशासनिक एक्सपेंसेस, टैक्स रेवेन्यू, इंडिरेक्ट टैक्स रेवेन्यू, खाद्य और फ़र्टिलाइज़र के लिए सब्सिडी पेमेंट्स, राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को रेवेन्यू ट्रांसफर और अन्य आइटम्स का बजट डॉक्यूमेंट में आने वाले वित्तीय वर्ष में उपयोग किया जा सकता है।