Indore: अगर ऐसा हुआ तो इंदौर में हर रोज 500 लोगों की होगी जांच

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

मध्यप्रदेश में कोरोना के सबसे बड़े हॉटस्पॉट इंदौर में 500 लोगों की कोरोना जांच हर रोज की जा सकेगी। इंदौर संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने गुरुवार को मीडिया को बताया कि वर्तमान में हर रोज 200 सैम्पल की जांच हो रही है और शहर सेंट्रल लैब और अरविंदो हॉस्पिटल की लैब में परीक्षण की अनुमति मिलती है तो क्षमता 500 टेस्ट तक बढ़ने की संभावना है।

संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने बताया कि प्रशासन का उद्देश्य ये है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करे खासकर उन क्षेत्रों में, जो कि अभी कंटेन्मेंट जोन्स है जहां पर एपिक सेंटर्स है। प्रशासन का पूरा फोकस ऐसे स्थानों पर है जहां कोरोना के लक्षण वाले मरीज बड़ी संख्या में हो सकते है। लिहाजा, प्रशासन ऐसे क्षेत्रो में परीक्षण कर कोरोना पीड़ितों की खोज कर रहा है ताकि संक्रमण ज्यादा लोगो मे ना फैल सके। हालांकि प्रशासन को कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने का अनुमान पहले से ही था लिहाजा प्रशासन ऐसे क्षेत्रों में सैम्पलिंग के साथ कांटेक्ट ट्रेसिंग सहित अन्य जरूरी कदम प्रोटोकॉल के तहत उठा रहा है। वही निर्देशो के मुताबिक कोविड – 19 के संक्रमितों और संदिग्धों के लिए थ्री लेयर स्ट्रक्चर पर प्रशासन काम कर रहा है।

किराना सामान की होम डिलीवरी में आएगी तेजी

संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी के मुताबिक किराना सामान की होम डिलेवरी के लिहाज से अब तक 88 हजार ऑर्डर मिल चुके है और उनमें से 60 हजार ऑर्डर की डिलेवरी की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि कचरा वाहनों के जरिये लिये जा रहे ऑर्डर के हिसाब से कल निगम के माध्यम से 15 हजार ऑर्डर डिलीवर किये गए और 2 हजार ऑर्डर इसलिए कैंसल किये गए क्योंकि लोगो को लगा था कि फ्री में स्टॉक हो रहा है। वही उन्होंने बताया कि व्यापारियों की संख्या बढ़ाई गई है और प्रयास किया जा रहा है कि जिस दिन ऑर्डर किया जाए उसी दिन सामान की डिलीवरी भी हो सके। वही बैक फीडिंग की बात सामने आ रही है और ऐसे में कही सामान की दिक्कत आ रही है तो प्रशासन ने थोक दाल मिल और आटा मिल को भी चालू करने की परमिशन दी जा रही है। इधर, गरीबो को आ रही समस्या पर संभागायुक्त ने कहा कि हम फूड पैकेट्स और राशन का बड़ी संख्या में वितरण कर रहे है और वितरण में टारगेट गरीब बस्तियों को किया जा रहा है। प्रशासन, शासन की ओर से बेघर लोगो के लिए किये गए आवंटन का उपयोग निर्धनों के लिए करने का प्रयास कर रहा है। संभागायुक्त ने शहरवासियों से अपील भी की है वो कोरोना संक्रमण को लेकर पैनिक न हो और साथ ही घर मे भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे इसके साथ ही लॉकडाउन का भी पालने करे।