Indore Accident: सामने आया खौफनाक मौत के मंजर का CCTV फुटेज, देखिये वीडियो

राजेश रघुवंशी ने बताया कि घटना के वक्त कार खड़े टैंकर में जा घुसी और 4 कि मौत मौके पर ही हो गई वही 2 लोगो को ईलाज के मौके से भेजा गया था।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (indore) में हुए भीषण सड़क हादसे (road accident) के सामने आने के बाद समूचा प्रदेश हिल गया है। दरअसल, हादसे में अलग अलग 6 परिवारों के चिराग बुझ गए। बता दे कि देर रात इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र के तलावली चांदा पर तेज रफ्तार स्विफ्ट कार अचानक तेजी से तेल के एक टैंकर (tanker) में घुस गई और कार के परखच्चे उखड़ गए। वही इस हादसे में 6 युवा छात्रों की जान चली गई।

घटना के सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) भी सामने आए है और रात करीब 1 बजकर 8 मिनिट पर देवास (dewas) से इंदौर अपने घर लौट रहे छात्रों की कार अचानक टैंकर में जा घुसी। घटना के सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि पलभर में कैसे रफ़्तार ने जिंदगी की रफ्तार पर नकेल कस दी और आखिरकार 6 युवाओ को उसमे जान गंवानी पड़ी। इधर, पुलिस ने टैंकर चालक की लापरवाही को लेकर भी पड़ताल शुरू कर दी है। फिलहाल, छात्रों की मौत के बाद प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में सनसनी फैल गई है।

मृतक छात्रों में अधिकतर इंदौर निवासी है। जिनके नाम ऋषि पिता अजय पंवार पिता निवासी भाग्यश्री कालोनी, सूरज बैरागी निवासी मालवीय नगर, छोटू उर्फ चंद्रभान रघुवंशी पिता शैलेन्द्र रघुवंशी मालवीय नगर, सोनू जाट पिता दुलीचंद जाट निवासी आदर्श मेघदूत नगर, सुमित पिता अमरसिंह निवासी भाग्यश्री कॉलोनी, गोलू पिता बिष्णु बैरागी सामने आये है।

Read More: Dabra Accident: मज़दूरों से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली हादसे का शिकार, 18 घायल, कुछ की हालत गंभीर

हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस एडिशनल एसपी राजेश रघुवंशी ने मृतकों के शवों को एम.वाय. अस्पताल पहुंचाया। बताया जा रहा है सभी छात्र एक ढाबे से खाना खाकर इंदौर की ओर लौट रहे थे कि अचानक हादसा सामने आ गया। मिली जानकारी के मुताबिक हादसे में मृतक सोनू जाट नामक रशिया में डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहा है।
एडिशनल एसपी राजेश रघुवंशी ने बताया कि घटना के वक्त कार खड़े टैंकर में जा घुसी और 4 कि मौत मौके पर ही हो गई वही 2 लोगो को ईलाज के मौके से भेजा गया था।

इधर, बाद में दोनों छात्रों ने भी दम तोड़ दिया। इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप के सामने हुए सड़क हादसे के बाद प्रत्यक्षदर्शी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि जिस वक्त हादसा हुआ तो ऐसा लगा मानो कोई बड़ा टायर फट गया हो। इसके अलावा एक अन्य कर्मचारी राजकुमार मोहरे ने बताया कि वो ऑफिस में बैठे थे और अचानक कार एक्सीडेंट का मामला सामने आया। फिलहाल, पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है वही पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद घटना से जुड़े अन्य पहलू भी सामने आ सकते है जिसकी तफ्तीश जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here