टोटल लॉकडाउन की ओर इन्दौर, कलेक्टर का कड़ा फैसला

इंदौर।आकाश धौलपुरे।मध्यप्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर की कमान संभालने के बाद नए कलेक्टर मनीष सिंह का बड़ा बयान सामने आया है।मनीष सिंह का कहना है कि एक बार कंपलीट लॉग डाउन किया जा रहा है जिसकी शुरुआत आज रविवार से कर दी गई है।

कलेक्टर ने कहा कि पहले अस्पतालों की मीटिंग ली है निजी अस्पतालों में कहा गया है।की सभी प्रकार के मरीजों का इलाज किया जाए।जिन्हे सर्दी खांसी या सांस लेने में हो उसे आयिसोलेटेड करेंगे।कोविड के लिए दो तीन हॉस्पिटल तय कर वहां शिफ्ट करेंगे।ज्यादा केस जहा के है वहां पूरी तरह लॉक डाउन करेंगे, सख्ती की जाएगी जैसे रानीपुरा, नयापुरा , चंदननगर, हाथीपाला दौलतगंज वहां स्क्रीनिंग करवाना है और आज पूरा रानीपुरा टेकओवर कर रहे हैं आज वहां के आसपास का जो रोड है उसे लॉक डाउन करके स्क्रीनिंग करेंगे। इस तरह के जितने भी एरिया है वहां स्क्रीनिंग की जाएगी और दवाइयां बटवाई जाएगी । 55 साल से ऊपर के मरीजों को या जिन्हें हार्ट की डिजीज है या शुगर है उन्हें दवाईयों के डोज देना तय कर रहे हैं।

कलेक्टर ने आगे कहा कि कोरंटाईल के लिए कई मैरिज गार्डन हम लोग ले रहे हैं जहां पर उन्हें रखा जाएगा वहां हलवाई भी रखे जाएंगे उनके खाने-पीने की व्यवस्था भी नहीं की जाएगी।इसके बाद पूरे शहर में लाक डाउन किया जाएगा। सभी लोग मास्क लगाएं अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें ।साथ ही स्वयंसेवी संगठन जो खाना बनवाने के नाम पर खुद भी एकत्र हो रहे हैं और लोगों को भी इकट्ठा कर रहे हैं वह भी बंद किया जा रहा है। मैं स्वयं सेवी संस्थाओं को जानता हूं जब हमें आवश्यकता होगी तो हम ऐसे लोगों को जरूर बुला लेंगे।हम व्यवस्था अलग से करवा रहे हैं 5 से 10000 पैकेट बंटवारे की।

वही जितने भी थानों पर बाहर जाने के लिए परमिशन मिल रही थी उसे भी बंद किया गया है।
जो बच्चा जिस हॉस्टल में रह रहा है वह हॉस्टल संचालक की जिम्मेदारी होगी कि उनके खाने-पीने की व्यवस्था करें । जो लेबर आई हुई है और जहां ठेकेदार लेकर आए हैं जिसको जगह में ठेकेदार लेकर आए वह मालिक और ठेकेदार उनके खाने की जिम्मेदारी उनका ध्यान रखा जाए और यदि ऐसा नहीं होता है तो वही जिम्मेदार है।

वही उन्होंने मीडियाकर्मियों से भी निवेदन है कि वह बहुत ज्यादा शहर में ना घुमें । जहां आवश्यकता हो केवल वहीं जाए लोग सुरक्षित रहे यही हमारी कामना है।घरों में ज्यादा से ज्यादा आलू प्याज रखे जाएं ।हरी सब्जियों के लिए ज्यादा ना भटके क्योंकि हरी सब्जियों से भी वायरस आपके घरों तक आ सकता है।थोड़ा समय की तकलीफ जरूर है लेकिन उसे अपने स्वास्थ्य के लिए संयम रखने की आवश्यकता है।केवल 14 -15 दिनों का संयम रखने की आवश्यकता है जल्दी स्थिति समझ जाए। कोरॉना सेकंड लेयर के अपर स्टेज में पहुंच चुका है जिस तरह से लगातार कैसे सामने आ रहे हैं।अभी भी अभी थोड़ी शक्ति हो जाएगी और टोटल लॉक डाउन होगा तो उसमें संभल जाएगी स्थिति।

वही
मरीज भागने की बात पर उन्होंने कहा कि हम उनका ध्यान रखेंगे पुलिस की व्यवस्था भी वहां लगाई जा रही है। ड्यूटी भी लगा रहे हैं उनके खाने-पीने की और सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाएगा सुविधा रहेगी तो कोई नहीं भागेगा।थोड़ी बहुत समस्या जरूर हो रही है लेकिन फिर भी लोग घर पर रहे थोड़ा मैनेज करें।