इंदौर: कोरोना का तांडव जारी, 75 नए पॉजिटिव, 31 के बाद बदलेगा लॉकडाउन का रुप

इंदौर।
मध्य प्रदेश (madhypradesh) में कोरोना पॉजिटिव (corona positive) मरीजों की संख्या 6500 के पार पहुंच गई है और इंदौर (indore) मे हालात बिगड़ते जा रहे है। आज शनिवार देर रात आज रिपोर्ट में फिर 75 कोरोना पॉजिटिव मिले है। सीएमएचओ ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर नए मामलों की जानकारी दी है। ऐसे में इंदौर का आंकड़ा अब तीन हजार के पार हो गया है ।वही तीन मरीजों की मौत होने की पुष्टि के बाद मृतकों की संख्या 114 पर पहुंच चुकी है।इधर लगातार बिगड़ते हालातों को देखते हुए कलेक्टर मनीष सिंह ने 31 मई के बाद लॉकडाउन के स्वरुप को बदलने की बात कही है। माना जा रहा है कि ढील को वापस लेकर एक बार फिर सख्ती की जा सकती है

दरअसल,शनिवार देर रात भेजे गए सैंपल में शहर में 75 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इंदौर में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 3008 पहुंच गया है।वहीं जिले में कोरोना संक्रमण की वजह से 3 और लोगों की मौत हो गई है। इंदौर में मौत का आंकड़ा 114 पहुंच गया है। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के मुताबिक, अब तक इंदौर जिले के 29064 लोगों की जांच रिपोर्ट आई है, जिसमें से लगभग 8 फीसदी की दर से पॉजिटिव मरीज आए हैं। शनिवार को 713 सैंपल की जांच में 624 निगेटिव भी मिले। इंदौर मरीजों की संख्या के लिहाज से देश में सातवें नंबर पर पहुंच गया है।

हैरानी की बात ये है कि कोरोना की चपेट में पश्चिम क्षेत्र के निवासी दो पूर्व पार्षद भी शामिल हैं। चंदन नगर क्षेत्र के पूर्व पार्षद को शनिवार को अरबिंदो अस्पताल में भर्ती किया गया।वे बस्ती में भोजन व राशन सामग्री बांटने के लिए कई दिनों से जुटे हुए थे। इसके अलावा महूनाका क्षेत्र में रहने वाले एक पूर्व पार्षद भी संक्रमित हुए हैं। निजी अस्पताल में इलाज के बाद उन्हें भी रेड श्रेणी अस्पताल में रैफर कर दिया गया।

नए कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित
लगातार आंकड़ों में बढोत्तरी के बाद नए कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किए गए है। नए क्षेत्रों में लालबहादुर शास्त्री नगर, त्रिवेदी नगर, देव नगर, दुर्गा नगर, रंगवासा, क्लर्क कॉलोनी, जीआरपी थाना, उत्सव एवेन्यू, गीतांजलि अपार्टमेंट, कृष्णा अपार्टमेंट, वंदना नगर, वसुंधरा कॉम्प्लेक्स, रतलाम कोठी, गुलमर्ग प्राइड, विकास नगर, मेदांता हॉस्टल, गोटू की चाल, कालिंदी गोल्ड सिटी, भगत सिंह नगर, लाबरिया भेरू, कोरल रीफ एबी रोड राऊ शामिल हैं।

31 मई के बाद बदलेगा लॉकडाउन का स्वरुप
इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह (collector manish singh) ने शनिवार को कहा कि जो शहर को 31 मई के बाद एकदम से नही खोला जा सकता है। उन्होंने लोगो को स्पष्ट किया कि 31 मई के बाद शहर को नही खोला जाएगा, उसके बाद भी 15 से 20 दिन का समय लगेगा। दरअसल, इस दौरान प्रशासन कोरोना संक्रमण के फैलाव की स्थिति को देखेगा हालांकि इंदौर कलेक्टर ने ये भी साफ किया कि एकदम से तो शहर नही खुलेगा लेकिन स्थिति को देखकर धीरे धीरे शहर खोला जाएगा। यानि साफ है कि इंदौर को लॉक डाउन में कुछ समय और रहना पड़ेगा और कम से कम 20 जून तक का इंतजार करना पड़ेगा उसके बाद ही शहर पूरी तरह से खुलने की स्थिति में आ सकेगा।