Indore Crime News: बहन ने नौकर संग की शादी, भाइयों ने चौराहे पर की हत्या, आरोपी फरार

सीएसपी दिशेष अग्रवाल ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस ने समीर को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Crime News

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर में ऑनर किलिंग से जुड़ा एक बड़ा मामला सामने आया है। यहां साले ने पहले अपने जीजा को घर बुलाया और वहां पर जीजा का बाकायदा आदर-सत्कार किया। फिर बहला फुसला कर उसे मोती तबेला चौराहा तक लेकर आए और फिर दो सालों ने जीजा की चाकू से गोद कर हत्या कर दी। दो महीने पहले ही आरोपियों की बहन ने लव मैरिज की थी।

इंदौर के राउजी बाजार थाना क्षेत्र के मोती तबेला का है। जहां रविवार शाम आरोपी अब्दुल अयाज और अब्दुल बकार ने जीजा समीर खान की चाकू मारकर हत्या कर दी। मिली जानकारी के मुताबिक समीर ने दो महीने पूर्व आरोपी की बहन अलमास से प्रेम विवाह कर लिया था। आरोपी अपने जीजा को बहाने से चौराहा पर ले गए और चाकूओं के 13 से अधिक वार कर फरार हो गए।

Read More: MP College: AICTE के निर्देश के बाद बढ़ सकती है निजी और शासकीय कॉलेज की फीस

रावजी बाजार थाना पुलिस के मुताबिक घटना शाम करीब 6 बजे मोती तबेला स्थित रॉयल कैफे के सामने की है। देवास निवासी समीर खान दो महीने पूर्व आरोपियों की बहन अलमास को भगा कर ले गया था। दोनों ने परिवार की मर्जी के विरुद्ध अहमदाबाद में निकाह कर लिया।अलमास के पिता नईम की तबीयत खराब थी, इसलिए दोनों पति-पत्नी रविवार को उनसे मिलने देवास से इंदौर के मोती तबेला आए थे।

समीर ने ससुराल में चाय पी और कुछ देर चर्चा करता रहा। थोड़ी देर बाद अब्दुल उसे चिकन की दुकान दिखाने का बहाना बनाकर चौराहे पर ले गया। यहां पहले से उसका भाई अयाज मौजूद था। उसने आते ही अपने जीजा समीर को चाूक मारना शुरू कर दिए। आरोपी ने करीब 13 से अधिक बार चाकू के वार किए और फरार हो गए। सीएसपी दिशेष अग्रवाल ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस ने समीर को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

घटना के बाद से ही आरोपी फरार है पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है। जानकारी के मुताबिक मूलत: मिर्जाबाग कॉलोनी देवास में रहने वाला समीर आरोपी साले की दुकान पर काम करता था। इसी दौरान उसको आरोपी की बहन अलमास से प्रेम हो गया और वह उसे भगा कर ले गया। आरोपी के रिश्तेदार इस बात को लेकर ताने देते थे। आरोपी को लगता था पूरे मोहल्ले में इज्जत खराब हो गई। बदला लेने के लिए समीर को चौराहा पर लेकर आए और सबके सामने हत्या कर दी।