Indore: स्वास्थ विभाग ने माना इस वजह से हुई टीआई की मृत्यु, पत्नी और बच्चा भी था क्वारंटाइन

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

इंदौर में बीती रात 1.30 बजे जूनि इंदौर टीआई(INDORE TI) देवेंद्र चन्द्रवंशी की मौत हो गई है। दरअसल, टीआई जूनि इंदौर थाने में पदस्थ थे और 31 मार्च को कोरोना पॉजिटिव(corona positive) पाए जाने के बाद उन्हें इंदौर के अरविंदो अस्पताल(aurobindo hospital) में इलाज के भर्ती कराया गया था। इसके बाद हाल के दिनों में ही उनकी कोरोना की दोनों रिपोर्ट नेगेटिव(negative report) आई थी जिसके बाद आज उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया जाना था लेकिन डॉ. विनोद भंडारी ने बताया कि पल्मोनरी एम्बुलिज्म के कारण उनकी हार्ट बिट बढ़ गई थी जिसके चलते उन्हें हार्ट अटैक आया था।

इधर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जाड़िया ने मीडिया से बात कर कहा कि वो बीते 18 से 19 दिन कोरोना से जंग लड़ रहे थे और आज रात 1 बजकर 30 मिनट पर उनका निधन हो गया। वही उन्होंने ये भी साफ किया कि जिस वक्त थाना प्रभारी को भर्ती कराया गया था तब उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी और इसलिए वो एक कोरोना पॉजिटिव मरीज थे।

डॉ. जाड़िया ने माना कि ये अलग बात है कि डिस्चार्ज करने के पहले दो जांच रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। उन्होंने बताया की तत्कालिक मृत्यु का कारण अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा पल्मोनरी एम्बुलिज्म बताया जा रहा है जो कि कोरोना का एक कॉम्प्लिकेशन हो सकता है। बता दे कि टीआई के परिवार में उनकी पत्नि और बेटे को क्वांरन्टीन किया गया था। इधर, टीआई की मौत की वजह के उठे विरोधाभास के बीच CMHO डॉ. प्रवीण जाड़िया ने टीआई की मौत का कारण मानते हुए 49 वीं मौत की पुष्टि की है वही बीजेपी के पूर्व पार्षद की मौत भी कोरोना से हुई है जिसके बाद इंदौर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 50 हो गई है।

डीआईजी इंदौर ने संवेदना व्यक्त की

इंदौर डीआईजी हरिनारायणचारि मिश्र ने अपने महकमे की होनहार टीआई की मौत पर शौक जताया और कहा कि आज का दिन पुलिस परिवार के लिए एक अपूरणीय क्षति का दिन बताया। उन्होंने कहा कि बहादुर टीआई कोरोना की जंग में शहीद हुए है। उन्होंने कहा कि उनके परिवार की सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा और हितों की देखभाल के लिये पूरा पुलिस परिवार कटिबद्ध है। उन्होंने बताया कि इस घड़ी में माननीय मुख्यमंत्री महोदय और माननीय पुलिस महानिदेशक महोदय ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।