Iran Helicopter Crash: हेलिकॉप्टर क्रैश में ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का निधन, विदेश मंत्री की भी मौत की आई खबर

Iran Helicopter Crash: ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलिकॉप्टर अजरबैजान की पहाड़ियों में दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। सर्च ऑपरेशन में जुटी रेड क्रिसेंट की टीम ने जानकारी दी है कि मलबे के पास किसी के जिंदा होने के संकेत नहीं मिले हैं, जिससे उनके जीवित होने की उम्मीदें धूमिल हो गई।

Iran Helicopter Crash: ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलिकॉप्टर अजरबैजान की पहाड़ियों में दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। इस हादसे में राष्ट्रपति रईसी और ईरान के विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन समेत 9 लोग लापता थे। हालांकि सर्च ऑपरेशन में जुटी रेड क्रिसेंट की टीम ने जानकारी दी है कि मलबे के पास किसी के जिंदा होने के संकेत नहीं मिले हैं, जिससे उनके जीवित होने की उम्मीदें खत्म हो गई हैं। वहीं ईरान की सेमी-ऑफिशियल न्यूज एजेंसी मेहर ने राष्ट्रपति की मौत की पुष्टि की है।

लापता हेलिकॉप्टर का मलबा मिला:

दरअसल रविवार शाम 7:30 बजे हेलिकॉप्टर अजरबैजान के पास लापता हुआ था, वहीं रातभर की तलाश के बाद हेलिकॉप्टर का मलबा अजरबैजान की पहाड़ियों में मिला है। जानकारी के अनुसार इसी दौरान इलाके में भारी बारिश, कोहरा और ठंड की वजह से सर्चिंग में काफी दिक्कतें आ रही है।

इसके साथ ही मीडिया रिपोर्ट की मानें तो तीन बचावकर्मी भी सर्च ऑपरेशन के दौरान गायब हो गए हैं। दरअसल तुर्की के एक ड्रोन को ताविल इलाके में जलती हुई जगह दिखाई दी, जिसे हेलिकॉप्टर का मलबा माना जा रहा है।

वहीं ईरानी स्टेट मीडिया IRNA के अनुसार, एक बांध का उद्घाटन करने राष्ट्रपति रईसी 19 मई की सुबह अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव के साथ निकले थे। जबकि वापस लौटते समय, अजरबैजान की सीमा के नजदीक ही ईरान के वरजेघन शहर में उनका यह हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया।

जानकारी में सामने आया कि हेलिकॉप्टर में ‘राष्ट्रपति रईसी, विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन, पूर्वी अजरबैजान प्रांत के गवर्नर मलिक रहमती, तबरीज के इमाम मोहम्मद अली अलेहाशेम के साथ साथ एक पायलट, को-पायलट, क्रू चीफ, हेड ऑफ सिक्योरिटी और बॉडीगार्ड सवार को मिलकर कुल 11 लोग सवार थे।

इस हेलीकॉप्टर में सवार थे राष्ट्रपति रईसी:

जानकारी में सामने आया है कि राष्ट्रपति रईसी जिस हेलीकाप्टर में सवार थे वह अमेरिका में बना बेल 212 हेलिकॉप्टर था। दरअसल यह दो ब्लेड वाला मीडियम साइज का हेलिकॉप्टर होता है, जिसमें पायलट सहित 15 लोगों को बैठाया जा सकता हैं। जानकारी के मुताबिक हेलिकॉप्टर के मलबे के पास किसी के जीवित होने के संकेत नहीं मिले हैं, जिससे हादसे की गंभीरता का अनुमान लगाया जा सकता है।

सर्च ऑपरेशन जारी:

हालांकि रेड क्रिसेंट और अन्य बचाव दल की टीमें लगातार सर्च ऑपरेशन में जुटी हुई हैं। दुर्घटनास्थल पर मौसम की खराब स्थितियों के बावजूद खोजबीन जारी है। राष्ट्रपति रईसी और अन्य लापता लोगों के परिजनों और पूरे देश के लिए यह एक कठिन समय है। हादसे की जांच शुरू हो गई है और जल्द ही अधिक जानकारी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।


About Author
Rishabh Namdev

Rishabh Namdev

मैंने श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर से जनसंचार एवं पत्रकारिता में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। मैं पत्रकारिता में आने वाले समय में अच्छे प्रदर्शन और कार्य अनुभव की आशा कर रहा हूं। मैंने अपने जीवन में काम करते हुए देश के निचले स्तर को गहराई से जाना है। जिसके चलते मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार बनने की इच्छा रखता हूं।