जबलपुर निगम प्रशासन के भ्रष्टाचार की खुली पोल

जबलपुर।संदीप कुमार।
जबलपुर नगर निगम द्वारा बनाये गए प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों में घटिया सामग्री का इस्तेमाल होने की परते अब खुलने लगी है।  मंगलवार की देर रात को रामपुर मांडवा बस्ती में बने पीएम आवास योजना के अंतर्गत बने  अपार्टमेंट का एक पिलर टूट जाने से निगम प्रशासन के भ्रष्ट्राचार की पोल खोल दी है ।  पिलर के टूटने से आवास में रहने वाले लोगो में  दहशत का माहौल बन गया। चार मंजिला वाले  EWS  अपार्टमेंट  का पिलर टूटने की खबर से आवास में रहने वाले लोग घरो से बाहर आ गए।

जिला प्रशासन को EWS  मकान के पिलर टूटने की जैसे ही सुचना मिली जिले के तमाम आला अधिकारी आधी रात  को मौके पर पहुंचे।  अधिकारीयों ने आवासीय परिसर का निरिक्षण  करने के बाद आवास को खाली करा दिया।जिला प्रशासन ने EWS  मकान में रहने वाले लोगो को नजदीक के सामुदायिक  भवन में रहने की व्यवस्था की है । प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत EWS  मकानो को 5 साल पहले नगर निगम जबलपुर द्वारा बनाया गया था। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगो के लिए EWS  मकानो का निर्माण कराया गया था। अतिक्रमण से विस्थापित गरीब परिवार के लोगो को भी इन्ही EWS  मकान में विस्थापित किया गया।

दो साल पहले मदन महल के बेदी नगर से नगर निगम ने अतिक्रमण के विस्थापितों ये मकान उपलब्ध कराये थे। EWS  मकानो में रह रहे लोगो द्वारा कई बार यंहा की अव्यवस्थाओ को लेकर कई बार नगर निगम प्रशासन को आगाह कर चुके थे। सूत्र बताते है की नगर निगम के अधिकारीयों और ठेकेदारों के बीच कमीशन खोरी के चक्कर में  EWS  मकानो में घटिया सामग्री का उपयोग किये जाने से आज EWS  मकान का पिलर टूटा है।
EWS  मकान  में रहने वाले लोगो ने जिला प्रशासन से  जर्जर हुए मकानों को शीघ्र दुरुस्त करने की वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग की है।