बिजली सप्लाई बंद होने कि सूचना मिलते ही पावर हाऊस पहुंचे ऊर्जा मंत्री प्रदयुम्न सिंह तोमर

मंत्री तोमर ने अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है कि प्लांट का मेंटेनेंस किस एजेंसी ने कब किया था। ऊर्जामंत्री प्रदुयुम्न सिंह तोमर ने साफ कहा है कि अगर प्लांट बिगड़ने की वजह मिस-मैनेजमेंट सामने आती है, तो दोषी अफसरों के खिलाफ कार्यवाई की जाएगी।

ऊर्जा मंत्री

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश के सिवनी और छिंदवाड़ा के बीच मौजूद पेंच जल विद्युत ग्रह की 80 मेगावॉट की एक यूनिट अचानक ही खराब हो गई, जिसके चलते बिजली उत्पादन पूरी तरह से बंद हो गया।

सूचना मिलते ही अचानक पहुँचे ऊर्जा मंत्री

पेंच में स्थित जल विधुत ग्रह में बिजली का उत्पादन बन्द हो गया ये खबर मिलते ही गुरुवार देर प्रदेश के ऊर्जामंत्री प्रदयुम्न सिंह तोमर पावर हाऊस पहुंच गए और वजह जानी की आखिर ऐसी क्या स्थिति बनी की बिजली का उत्पादन बन्द हो गया। ऊर्जा मंत्री ने बिजली कंपनी के अधिकारियों को यूनिट बिगड़ने की जांच करवाने और इसे जल्द से जल्द सुधारने के निर्देश दिए।

रिपोर्ट दो किस कंपनी के पास है ममेंटनेंस का ठेका

मंत्री तोमर ने अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है कि प्लांट का मेंटेनेंस किस एजेंसी ने कब किया था। ऊर्जामंत्री प्रदुयुम्न सिंह तोमर ने साफ कहा है कि अगर प्लांट बिगड़ने की वजह मिस-मैनेजमेंट सामने आती है, तो दोषी अफसरों के खिलाफ कार्यवाई की जाएगी। गुरुवार रात पेंच हाईडल पावर प्लांट पहुंचे ऊर्जामत्री तोमर ने यहां लगे फायर एक्सटिंगुशर्स का भी मुआयना किया और उन्हें खाली पाने पर अधिकारियों को फटकार लगाई है।

13 हजार का बिल हुआ 212 रुपए

बता दें कि मंगलवार को भीमनगर में रहने वाली एक गरीब महिला ऊर्जा मंत्री के सरकारी अवास पर अपनी फरियाद लेकर पहुंची थी, जिसमें महिला का कहना था कि 2 महीने पहले ही उसने नया मीटर लगवाया था, वहीं बिजली विभाग द्वारा उसे 13 हजार 731 रुपए का बिल थमा दिया गया। महिला का कहना था कि उसके घर में सिर्फ एक ही बल्ब है।

महिला की शिकायत पर ऊर्जा मंत्री तुंरत जांच करने के लिए बिजली कंपनी के आला अधिकारियों के साथ भीमनगर महिला के घर पहुंचे। स्थिति का मुआयना करने पर पाया गया कि महिला की बात सत्य थी। मंत्री ने तुंरत अधिकारियों को बिल में सुधार करने के निर्देश दिए। मात्र कुछ ही घंटों में बिजली बिल में संशोधन कर नया बिल जारी किया गया जिसमें 13 हजार 731 रुपए का बिल 212 रुपए कर दिया गया।