कमलनाथ का शिवराज के फैसले पर पलटवार- ‘सिर्फ चुनावी घोषणा रहा तो चुप नहीं रहेगी कांग्रेस’

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

उपचुनाव(by-election) से पहले प्रदेश युवाओं को साधने के लिए शिवराज सरकार(shivraj government) ने बड़ा मास्टरस्ट्रोक(masterstroke) खेला है। शिवराज सरकार ने ऐलान किया है कि मध्य प्रदेश के सरकारी नौकरियों(government job) पर मध्य प्रदेश के युवाओं का ही अधिकार होगा। एक तरफ जहां इस फैसले की पूरे पुरे देश में चर्चा हो रही है। वहीं दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ(Former Chief Minister Kamal Nath) ने शिवराज सरकार के इस फैसले पर पलटवार किया है।पूर्व मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि 15 साल के शिवराज सरकार में प्रदेश में बेरोजगारी की क्या स्थिति रही है। यह किसी से छिपी नहीं है युवा हाथ में डिग्री लेकर नौकरी के लिए दर-दर भटकते रहे हैं। आज युवाओं को रोजगार देने के लिए आप नींद से जागे। यह अच्छी बात है लेकिन कहीं यह घोषणा सिर्फ घोषणा न रह जाए।

दरअसल वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार को चेतावनी दी है कि आगामी उपचुनाव को देखते हुए अगर यह मात्र चुनावी घोषणा है तो ध्यान रहे युवाओं के साथ धोखेबाजी पर कांग्रेस(congress) इस बार चुप नहीं बैठेगी। पूर्व मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि 15 महीने की अपनी सरकार में प्रदेश युवाओं को प्राथमिकता से रोजगार मिले इसके लिए कांग्रेस ने कई प्रावधान किए थे। उन्होंने कहा कि उद्योग नीति में परिवर्तन कर 70% प्रदेश के स्थानीय युवाओं को रोजगार देना अनिवार्य करने वाली हमारी ही सरकार थी।

युवाओं के रोजगार को हमनें दी प्राथमिकता

कमलनाथ ने कहा कि हमने युवा स्वाभिमान योजना लागू कर युवाओं को रोजगार दिया। इसके लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए। जबकि आपकी 15 साल की सत्ता में बेरोजगारी चरम पर थी। प्रदेश के युवा हाथ में डिग्री लेकर नौकरी के लिए भटक रहे थे।आज प्रदेश की मजदूर व गरीब के आंकड़े आप की वास्तविकता खुद ही बयां कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ उन्होंने कहा कि आप रोजगार देने की बात करते हैं पिछले 15 वर्ष में सरकार ने कितने युवाओं को रोजगार दिया है पहले यह आंकड़े आपको सामने लाने चाहिए।

कांग्रेस के निर्णय के अनुरूप है शिवराज का फैसला

दूसरी तरफ कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर पलटवार करते हुए कहा है कि आपने कांग्रेस के निर्णय के अनुरूप है युवाओं को नौकरी में प्राथमिकता देने की घोषणा की है।वहीं कमलनाथ ने शिवराज सरकार को आगाह किया है की पूर्व की तरह सिर्फ यह घोषणा न बनकर रह जाए इसका वह खासा ध्यान रखें।

युवाओं से छल पर इस बार चुप नहीं रहेगी कांग्रेस

कमलनाथ ने शिवराज सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदेश के युवाओं के हक के साथ पिछले 15 वर्ष की तरह वर्तमान में भी छलावा ना हो, वो ठगे ना जाए, इस बात का ध्यान रहे अन्यथा कांग्रेस इस बार चुप नहीं बैठेगी।

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)ने बड़ा फैसला लेते हुए ऐलान किया है कि मप्र में सरकारी नौकरियां अब प्रदेश के नौजवानों को ही दी जाएंगी। मप्र सरकार ने यह ऐतिहासिक फैसला लेते हुए इस संबंध में जल्द ही कानून बनाने का फैसला किया है।चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश में शासकीय नौकरी अब सिर्फ मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए होगी। इसके लिए आवश्यक कानून बनाया जा रहा है। जिससे अब मध्य प्रदेश के संसाधन मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए ही होंगे।