ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर चंबल संभाग के चार दिवसीय दौरे पर निकले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी सरकार के खिलाफ अटेकिंग मूड में हैं। सिर्फ शिवराज ही नहीं उनके साथ मौजूद सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी कमलनाथ और उनकी 15 महीने की सरकार पर हमलावर हैं। शुकवार 11 सितंबर की रात दौरे के दूसरे दिन मुख्यमंत्री ने ग्वालियर विधानसभा में 129 करोड़ रुपये के विकासकार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। उन्होंने मंच से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कमलनाथ बोरानाथ हो गए थे वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था। मुख्यमंत्री के पास अपने विधायक मंत्रियों के लिए समय नहीं था। लेकिन जो बोरा भरकर आते थे वो मुलाकात के बाद खाली बोरा लेकर जाते थे वे कभी भी आ सकते थे। विधायकों मंत्रियों से कहते थे चलो चलो, लेकिन सिंधिया जी ने अपने साथियों के साथ मिलकर ही चलता कर दिया अब आपकी बारी है।

ग्वालियर शहर की ग्वालियर विधानसभा के इंटक मैदान पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ग्वालियर के विकास के लिये शुरू किए जा रहे कार्यों का यह ट्रेलर है पिक्चर अभी बाकी है। ग्वालियर का विकास तेजी से किया जायेगा। पूर्व सरकार के समय जो विकास की गति रूकी थी उसे अब और तेज गति से पूरा किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाँव, गरीब और किसान के हित में सरकार तेजी के साथ कार्य कर रही है। हर गरीब को एक रूपए प्रतिकिलो के मान से खाद्यान्न उपलब्ध कराया जायेगा। प्रदेश में 16 सितम्बर से 35 लाख परिवारों को एक रूपए प्रतिकिलो कीमत पर खाद्यान्न उपलब्ध कराने हेतु खाद्यान्न पर्ची का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश का कोई भी गरीब अनाज से वंचित नहीं रहेगा, यह सुनिश्चित किया जायेगा। सीएम श्री चौहान ने कहा कि ग्वालियर के जेसीमिल श्रमिकों को उनके मकान का मालिकाना हक मिले, इसके लिये सरकार कार्य करेगी। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की मांग पर जेएएच अस्पताल में बायपास सर्जरी की सुविधा भी उपलब्ध कराई जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने जनहित की जो भी योजनायें बंद की थीं हम उन सबको चालू कर जरूरतमंदों को उसका लाभ दिलायेंगे। ग्वालियर में विकास के साथ-साथ लोगों को रोजगार उपलब्ध हो, इसके लिये नए उद्योग लाने की दिशा में भी सार्थक प्रयास किए जायेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रद्युम्न सिंह तोमर की तारीफ करते हुए कहा कि ग्वालियर को प्रद्युम्न सिंह तोमर के रूप में एक कर्मठ जनसेवक मिला है। इसका हम सबको गर्व होना चाहिए। श्री तोमर बिना किसी अपेक्षा के जनसेवा के कार्य में सदैव लगे रहते हैं। उनकी जनसेवा का अनुशरण अन्य जनप्रतिनिधियों को भी करना चाहिए।

कमलनाथ नहीं बोरानाथ हो गए थे वो

मुख्यमंत्री ने मंच से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कमलनाथ बोरानाथ हो गए थे वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था। मुख्यमंत्री के पास अपने विधायक मंत्रियों के लिए समय नहीं था। लेकिन जो बोरा भरकर आते थे वो मुलाकात के बाद खाली बोरा लेकर जाते थे वे कभी भी आ सकते थे। विधायकों मंत्रियों से कहते थे चलो चलो, लेकिन सिंधिया जी ने अपने साथियों के साथ मिलकर ही चलता कर दिया अब आपकी बारी है।

प्रद्युम्न ने सेवाकार्य से अलग पहचान बनाई: तोमर

कार्यक्रम में केन्द्रीय कृषि, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि ग्वालियर में विकास के कार्यों को तेजी के साथ पूर्ण करने के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान की पहचान विकास के रूप में ही है। मुख्यमंत्री द्वारा ग्वालियर-चंबल अंचल में विगत तीन दिवस के भ्रमण में लगभग डेढ़ हजार करोड़ रूपए के विकास कार्यों की सौगात हम सबको दी है। उनके नेतृत्व में मध्यप्रदेश विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश के विकास से देश के विकास को भी गति मिलेगी। केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि मुख्यमंत्र शिवराज सिंह चौहान, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया मिलकर प्रदेश के विकास को और तेजी से कर रहे हैं। आने वाले समय में ग्वालियर में विकास के और बड़े कार्य किए जायेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में 13 सालों में जो विकास के कार्य किए गए थे वह पिछले 50 सालों में भी नहीं हुए हैं।
केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी विकास और सेवा के कार्य में अपनी अलग पहचान बनाई है। श्री तोमर किसी भी भूमिका में रहे हों वे जनता की सेवा के लिये सदैव संघर्ष करते रहे हैं। वे अपने क्षेत्र के विकास के लिये कार्य करते रहें, उनको प्रदेश एवं केन्द्र सरकार का पूरा सहयोग मिलता रहेगा।

सिंधिया ने पढ़े प्रद्युम्न की तारीफ के कसीदे

पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र को प्रद्युम्न सिंह तोमर के रूप में भाई, बच्चा और सच्चा सेवक मिला है। विकास के लिये उनकी कोशिश और मेहनत प्रशंसा योग्य है। किसी भी क्षेत्र को ऐसा जनप्रतिनिधि मिलने पर गर्व होना चाहिए। वे जरूरत पड़ने पर नाली और कींचड़ में उतरने से भी नहीं चुके, कचरा अपने हाथों से साफ किया। सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ की सरकार ने ग्वालियर की जनता के साथ विश्वासघात किया। उनके द्वारा किए गए वादों को न पूर्ण किया गया और न विकास के कार्य में कोई रूचि दिखाई गई। ग्वालियर अंचल के मान सम्मान को बनाए रखने के लिये हमें जो उचित लगा वह हमने किया। ग्वालियर के विकास के लिये हम हमेशा दृढ़ संकल्पित हैं और रहेंगे।

विकास पुस्तिका का विमोचन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र में किए गए विकास कार्यों पर केन्द्रित एक विकास पुस्तिका का भी विमोचन किया। इस विकास पुस्तिका में अब तक विधानसभा क्षेत्र में 558 करोड़ रूपए के कराए गए विकास कार्यों का ब्यौरा दिया गया है। कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा शासन की विभिन्न कल्याण्कारी योजनाओं के हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया और उन्हें हितलाभ का वितरण किया गया।

इन कार्यों का हुआ लोकार्पण एवं भूमिपूजन

विधानसभा क्षेत्र 15 ग्वालियर के अंतर्गत अमृत योजना के तहत 145 एमएलडी क्षमता का एसटीपी एवं 3 उच्च स्तरीय पानी की टंकियाँ मय टीएमए लागत लगभग 102 करोड़, लोक निर्माण विभाग पीआईयू के तहत हाई स्कूल भवन निर्माण कार्य बरेठा लागत एक करोड़ एवं स्मार्ट सिटी के तहत हजीरा चौराहे पर इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लागत एक करोड़ 72 लाख तथा सेल्फी प्वॉइंट फूलबाग का निर्माण कार्य लागत 26 लाख 95 हजार रूपए के विकास कार्यों का लोकार्पण किया गया।
इसी प्रकार ग्वालियर विधानसभा के अंतर्गत जनकार्य नगर निगम के तहत मनोरंजनालय पार्क विकास कार्य बिरलानगर रोड़ लागत 5 करोड़, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के तहत बिरलानगर अस्पताल में 50 बिस्तरीय मैटरनिटी विंग का निर्माण लागत 8 करोड़ 38 लाख, खेल एवं युवा कल्याण विभाग के तहत आईआईआईटीएम के सामने खेलगांव में स्टेडियम का निर्माण लागत 10 करोड़, लोक निर्माण विभाग पीआईयू के तहत हाईस्कूल भवन का निर्माण कार्य नौमहला लागत एक करोड़ एवं हाईस्कूल भवन का निर्माण कार्य रेशम मिल लागत एक करोड़ रूपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन किया गया।