बीच बैठक में अधिकारी के पैर छूने पर क्या बोले कमलनाथ के मंत्री

भोपाल/ग्वालियर।

खाद्य मंत्री (Food Minister) प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ग्वालियर में एक अधिकारी के पैर छूने को सही करार दिया है। वे अपने आपको भगवान राम का अनुयायी बताते हुए कहते हैं कि जिस तरह श्रीराम ने समुद्र से पहले प्रार्थना की थी और जब रास्ता नहीं दिया तो तीर निकाला था। उसी तरह मैंने अभी प्रार्थना की है। अगर सफाई सही नहीं हुई तो तरकश में से तीर निकालकर चलाने से नहीं चूकेंगे। यह बात उन्होंने मीडिया से चर्चा में कही।

दरअसल, नाले में उतरकर कीचड़ साफ करने, सड़कों पर सफाई अभियान चलाने और बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले प्रदेश के खाद्य मंत्री ने शनिवार को नगर निगम(municipal Corporation) के सब इंजीनियर के पैर छूकर उस समय सबको चौंका दिया जब वे अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। मंत्री(minister) ने अधूरे विकास कार्य की जानकारी मांगी जिसका जवाब सब इंजीनियर(Sub engineer) ने दिया लेकिन मंत्री जी नाराज हो गए और उन्होंने कुर्सी से उठकर सब इंजीनियर के पैर छू लिए। वे पिछले कुछ समय से लगातार इस बात के लिए नाराजगी जता रहे हैं कि उनके क्षेत्र में कई का ऐसे हैं जिनका भूमिपूजन हुए बहुत समय बीत गया लेकिन उसकी शुरुआत नहीं हुई। इसे लेकर वे कई बार नगर निगम के अधिकारियों को फटकार लगा चुके हैं।

क्षेत्रीय लोगों की लगातार शिकायत के बाद प्रद्युम्न सिंह तोमर ने नगर निगम अधिकारियों की बैठक बुलाई। बाल भवन में जब बैठक शुरू हुई तब मंत्री की त्योरियाँ चढ़ी हुई थी। उन्होंने सब इंजीनियर शिशिर श्रीवास्तव से पूछा कि मैंने जून 2019 में बदनापुरा में सीवर लाइन का भूमिपूजन किया था अब तक उसका काम शुरू क्यों नहीं हुआ।सब इंजीनियर ने जवाब दिया कि लेवलिंग में परेशानी है इसलिए। सर्वे के बाद ही इसका का शुरू हो सकेगा। जवाब सुनकर मंत्री नाराज हो गए, वे अपनी कुर्सी से उठे और पास ही में बैठे सब इंजीनियर शिशिर श्रीवास्तव के पैर छू लिए। ये सब इतना जल्दी में हुआ कि सब हक्के बक्के रह गए। चूंकि इस समय बैठक में कोई मीडियाकर्मी नहीं था इसलिए ये घटना कैमरे में कैद नहीं हुई।लेकिन इसकी चर्चा अब चारों तरफ है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here