गलत साबित हुआ कमलनाथ का बयान, BJP ने नहीं दिया कोई अविश्वास प्रस्ताव

भोपाल।

पूर्व मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है।मिश्रा ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के अविश्वास प्रस्ताव वाले बयान को गलत बताया है।नरोत्तम ने आगे कहा कि बहुत दुखद प्रसंग है। कल से मीडिया में चल रहा है। सोमवार को सीएम ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा ने अविश्वास प्रस्ताव पारित किया है, ऐसा कुछ भी नही है।ये शत प्रतिशत झूठ और गलत है।भाजपा ने कोई अविश्वास प्रस्ताव पारित नही किया। ये सरकार के भागने का कोशिश है। हमने महामहिम के सामने अपना पक्ष रख दिया है।

आगे नरोत्तम ने कहा कि आज सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा ना मुख्यमंत्री, ना विधानसभा अध्यक्ष और ना कोई सरकार का नुमाइंदा सुनवाई में पहुंचा।हैरानी की बात है वकील तक उपस्थित नही हुआ।किस तरह से भाग रहे है, रण छोड रहे है।ये इस बात का संकेत है कि जिस कोरोना ने दुनिया की सांसे अवरुद्ध कर रखी है उसी में कांग्रेस अपनी सांसे ढूंढ रही है।

वही मिश्रा ने आज बैंगलूरु में कांग्रेस के बागी विधायकों की प्रेसवार्ता को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री और पूरी कांग्रेस कह रही थी कि भाजपा ने विधायकों को बंधक बनाकर रखा है इसका उत्तर आज मिल गया। आज सभी मीडिया के सामने आ गए है। विथायकों ने साफ कहा कि मुख्यंमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा तक ही सीमित है। इनकी आंखे छिंदवाड़ा में खुलती है। इनको सिर्फ छिंदवाड़ा और राजगढ़ की चिंता है।पुत्र में प्रदेश डूब रहा है। एक तरफ कांग्रेस ने पुत्र मोह मे देश डूबा दिया वही प्रदेश को डूबोया जा रहा है।

मिश्रा ने कहा कि विधायकों की सरकार को इतनी ही चिंता है तो बैंगलूरु जाए और उन्हें लेकर आए। सभी कांग्रेस केन्द्रीय सुरक्षा मांगी है तो क्यो सरकार उन्हें सुरक्षा उपलब्ध नही करवा रही ।केन्द्र को पत्र लिखना चाहिए और विधायकों को सुरक्षा देना चाहिए। उन्होंने तो आज साफ कहा हमें केन्द्र से सुरक्षा मिलेगी तभी हम भोपाल आएंगे। अगर इनके पास बहुत है तो साबित करे। विधायकों को इन पर भरोसा नही। पूरी कांग्रेस गर्त में जा रही है। वही राज्यपाल के पत्र को लेकर कहा कि सरकार फ्लोर टेस्ट को लेकर बच रही है। बहुत ही गंभीर विषय है। राज्यपाल ने भावुक शब्दों में लिखा और फ्लोर टेस्ट की मांग की है।अब देखना है कि महामहिम आगे क्या फैसला लेते है।