Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए

बच्ची ने शिवराज मामा से गुहार लगाते हुए कहा है कि मामा की लाडली और उसकी मां को उसके पापा, दादा और दादी द्वारा घर से निकाल दिया गया है।

कटनी, अभिषेक दुबे। मध्यप्रदेश (MP) में एक तरफ जहां शिवराज सरकार (Shivraj government) लाडली लक्ष्मी (ladli laxmi) के लिए आए दिन बड़े ऐलान कर रही है। प्रदेश की बेटियों के अधिकार के लिए नवीन योजनाएं संचालित की जा रही है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में लड़कियों के खिलाफ अत्याचार और प्रताड़ना के मामले भी देखने को मिल रहे हैं। दरअसल ताजा मामला कटनी (katni) जिले से सामने आया है। जिसमें 8 वर्षीय एक बच्ची अपने पिता के प्यार के लिए तड़प रही है। वहीं पिता द्वारा बेरहमी से उसे और उसकी मां को घर से निकाल दिया गया है। जिसके बाद 8 वर्षीय बच्ची ने अब शिवराज मामा (Shivraj mama) से गुहार लगाई है।

बच्ची ने शिवराज मामा से गुहार लगाते हुए कहा है कि मामा की लाडली और उसकी मां को उसके पापा, दादा और दादी द्वारा घर से निकाल दिया गया है। मामले में शिकायत करते हुए बच्चे ने कहा कि उसके पापा दादा श्याम बाबू शर्मा और दादी मनोरमा शर्मा द्वारा रात को 12:00 बजे उसे और उसकी मां को पुलिस की सहायता से उज्जैन के घर से निकाल दिया गया। बच्चे और उसकी मां का कहना है दोनों मां बेटी को घर से निकाला गया है।

वही बच्ची और बीते 3 दिन से थाने में बैठी हुई है। बच्ची का कहना है कि पुलिस के संरक्षण में लाडली के साथ अत्याचार हो रहा है वहीं बच्ची का सवाल है कि अब उसके भविष्य और उसकी पढ़ाई का क्या होगा। जानकारी के मुताबिक बच्ची के पिता अल्ट्राटेक सीमेंट में कंपनी के मैनेजर है और उसके बड़े नाना श्रीधर हरदैनिया पूर्व विधायक सबलगढ़ जिला मुरैना मीसाबंदी भी रहे हैं और उन्होंने देश की सेवा की है। बच्चे ने शिवराज मामा से गुहार लगाते हुए कहा कि मुझे और मेरी मां को जान का खतरा भी हो गया है वहीं 8 वर्षीय बच्चे ने मामा से न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

जानकारी के मुताबिक मैकेनिकल इंजीनियर और उज्जैन निवासी विवेक शर्मा राजस्थान के जयपुर में मैनेजर मैकेनिकल इंजीनियर के पद पर पदस्थ है। अल्ट्राटेक सीमेंट वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड में कार्यरत विवेक शर्मा पर उनके पत्नी ने बड़ा आरोप लगाया है। दरअसल पत्नी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उनकी शादी विवेक शर्मा से 2 जून 2013 में हुई थी। हिंदू रीति रिवाज के अनुसार शादी होने के बाद उनके माता-पिता ने गृहस्थी का सारा सामान भी दहेज के रूप में दिया था। शादी के बाद उनके पति विवेक शर्मा द्वारा 3 महीने तक उन्हें घर में बहुत अच्छे से इज्जत के साथ रखा गया।

Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए

Read More : कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि की घोषणा, जुलाई के वेतन में मिलेगा लाभ, अन्य भत्ते के लिए खाते में भेजी जाएगी राशि

हालांकि 3 महीने के बाद आए दिन उनके साथ घर में शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का सिलसिला शुरू कर दिया गया। इतना ही नहीं कई बार उन्हें दहेज और माता-पिता से रुपए मांग कर लाने के बाद पर भी प्रताड़ित किया गया। हालांकि पत्नी द्वारा यह बात अपने माता पिता को बताई गई।जिसके बाद माता-पिता द्वारा भी पति को समझाने का प्रयास किया गया लेकिन विवेक शर्मा नहीं माने। इतना ही नहीं पत्नी का आरोप है कि बेटी पैदा होने के बाद भी पत्नी को मानसिक प्रताड़ना दी गई। विवेक शर्मा का कहना था कि उन्हें लड़का चाहिए था लेकिन उनकी लड़की पैदा होने के बाद घर में उनके साथ मारपीट तक की गई।

इतना ही नहीं पत्नी ने कहा कि उनके पति जयपुर के पास कोटपूतली ग्राम में आदित्य बिरला में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। वही 19 जून 2019 को जब वह अपने पति से मिलने जयपुर गए तो पति ने उनसे मिलने से साफ मना कर दिया। जिसके बाद महिला जयपुर थाने पहुंची। हालांकि जयपुर के कोटपूतली ग्राम में थाने में पति को समझाइश दी गई। जिसके बाद पति पत्नी को लेकर उज्जैन वापस आ गया। हालांकि पत्नी का आरोप है कि पति द्वारा उसे उज्जैन स्थित घर भी नहीं ले जाया गया और थाने में बैठाए रखा गया। इतना ही नहीं पति विवेक शर्मा द्वारा पत्नी और बच्ची को अपनाने से मना कर दिया गया।

Katni News : पिता ने अपनाने से किया इनकार, 8 वर्षीय बच्ची की CM शिवराज से गुहार- मेरी मां और मुझे जान का खतरा, मामाजी मदद कीजिए

हालांकि पति के इनकार के बाद जब पत्नी अपनी 8 वर्षीय बच्चे को लेकर उज्जैन स्थित घर पहुंचे तो सास ससुर द्वारा भी उसे अपनाने और घर में घुसने से मना कर दिया गया और आधी रात 12:00 बजे उसे और उसकी बेटी को घर से निकाल दिया गया। इस मामले में पत्नी ने अल्ट्राटेक सीमेंट वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड को भी पत्र लिखकर जनरल मैनेजर के अपराधिक प्रवृत्ति होने की जानकारी दी लेकिन कंपनी द्वारा कोई कार्यवाही ना करते हुए विवेक शर्मा को संरक्षण दिया गया है।

विवेक शर्मा की पत्नी द्वारा अल्ट्रा टेक सीमेंट वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड को लिखे पत्र में कहा गया कि विवेक शर्मा भारतीय दंड विधान की धारा 498 506 34 भारतीय दंड संहिता अपराधिक प्रकरण 12420 19 के तहत उज्जैन पुलिस द्वारा अपराध कायम करने के एवज में गिरफ्तार हो चुके हैं। वही जो व्यक्ति पुलिस जांच में दोषी पाया गया और गिरफ्तार हुआ हो उसे तो नौकरी से तत्काल बर्खास्त किया जाना चाहिए लेकिन कंपनी द्वारा ऐसे व्यक्ति को संरक्षित किया गया है।

वही पत्नी का कहना है कि उनकी पुत्री की पढ़ाई नहीं होने दी जा रही है। उनकी पुत्री स्कूल में केजी क्लास में पढ़ती थी उसे भी स्कूल से नाम कटवा कर निकाल दिया गया है। अब मां और बेटी दर-दर भटकने को मजबूर हो रहे हैं। विवेक शर्मा पर दो महिलाओं के उत्पीड़न का आरोप है।

जिसके बाद पत्नी ने अल्ट्राटेक सीमेंट वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड से भी पति को तत्काल रुप से बर्खास्त करने की मांग की है। साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित प्रशासन से विवेक शर्मा पर कार्रवाई की मांग करते हुए पत्नी और बच्ची ने अपनी सुरक्षा की मांग की है। इस मामले में पत्नी द्वारा पति विवेक शर्मा पर उत्पीड़न सहित मानसिक प्रताड़ना के आरोप लगाए गए हैं।