जबलपुर: कैंट बोर्ड कर्मचारियों का विरोध, आज बंद रहेगी सेवाएं, मांग पूरी नहीं होने पर हड़ताल की चेतावनी

कर्मचारियों का स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने को लेकर कहना है कि आरटीआई कार्यकर्ता मौसम पासी ने स्वस्थ अधिकारी के खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं कैंट पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करके कैंट के अधिकारी खिलाफ एसटी एक्ट के तहत मामला बनाया है। जो की पूरी तरह से गलत है।

जबलपुर

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर के आरटीआई कार्यकर्ता मौसम पासी दौरा कैंट बोर्ड में पदस्थ स्वास्थ्य विभाग अधिकारी अभय सिंह परिहार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के मामले को लेकर कैंट बोर्ड के सभी कर्मचारी लामबंद हो गए हैं, लिहाजा आज से सभी कर्मचारियों ने तमाम तरह की सेवाएं बंद करने का निर्णय लिया है। कहा जा सकता है कि अगर कैंट बोर्ड की व्यवस्थाएं और सेवाएं ठप हो गई तो निश्चित रूप से जनजीवन पर इसका असर पड़ेगा। इधर कैंट थाने में स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज होने को लेकर आज दोपहर बोर्ड के सभी कर्मचारी एसपी ऑफिस का घेराव भी करेंगे।

इसलिए हुई एफ आई आर दर्ज

कैंट थाने में आरटीआई कार्यकर्ता मौसम पासी ने कैंट बोर्ड के स्वास्थ्य अधिकारी अभय सिंह परिहार के खिलाफ कार चढ़ाने व जातिगत रूप से अपमानित करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।कैंट पुलिस ने आरटीआई कार्यकर्ता की रिपोर्ट पर स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ सड़क दुर्घटना, गाली-गलौच,जान से मारने की धमकी देने व एसटी एससी एक्ट के तहत मामला दर्ज करते हुए उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज की थी।

Read More: MP उपचुनाव : अपने पाले के विधायकों को बचाने में लगी पार्टियां, निगरानी तंत्र सक्रिय

पुलिस की रिपोर्ट में नहीं है सत्यता

कैंट बोर्ड के कर्मचारियों का स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने को लेकर कहना है कि आरटीआई कार्यकर्ता मौसम पासी ने स्वस्थ अधिकारी के खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं कैंट पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करके कैंट के अधिकारी खिलाफ एसटी एक्ट के तहत मामला बनाया है। जो की पूरी तरह से गलत है।

आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा कमीशन की की गई थी

कैंट बोर्ड के कर्मचारियों की माने तो सैन्य प्रशासन के अधीन नगरीय निकाय अपने क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों को बिजली, पानी,नाली सड़क और अन्य सुविधाओं से जुड़ी सेवाएं दे रहा है पर कुछ लोग शासकीय कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारियों से बेवजह विवाद करते हुए कमीशन की मांग करते हैं, ऐसे लोगों की मर्जी का काम जब नहीं होता है तो वह विभिन्न मदो और खर्चों का विकास कार्य जाने के लिए आरटीआई लगाते हैं इसके बाद विकास कार्य करने वाले अधिकारी, कर्मचारी व ठेकेदारों से राशि की मांग करते हैं और जब यह मांग पूरी नहीं होती तो उनके खिलाफ झूठे मामले में फंसाने की धमकी देते हुए एफआईआर दर्ज करवाई जाती है।

Read More: Income Tax Raid : बिना काम के 170 करोड़ का भुगतान, कई अधिकारी जांच के घेरे में

आज होगा एसपी ऑफिस का घेराव

कैंट बोर्ड में पदस्थ स्वास्थ्य अधिकारी अभय सिंह परिहार के खिलाफ कैंट थाने में हुई f.i.r. के विरोध में कैंट बोर्ड के समस्त कर्मचारी लामबंद होकर एसपी ऑफिस का घेराव करेंगे, साथ ही पुलिस पर दबाव बनाया जाएगा कि आरटीआई कार्यकर्ता मौसम पासी द्वारा जो झूठा प्रकरण उन पर लगाया गया है वह वापस हो, बताया जा रहा है कि कैंट बोर्ड के लगभग 5000 कर्मचारी काम बंद कर आज प्रदर्शन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here