भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में विधानसभा की 27 सीटों पर उपचुनाव (Byelection) अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में हो सकते हैं। इस बात की पूरी संभावना है कि चुनाव आयोग (Election Commission) 15 सितंबर के बाद कभी भी उपचुनावों के लिए कार्यक्रम घोषित कर सकता है । चुनाव आयोग की घोषणा के साथ की उप चुनावों की आचार संहिता लागू हो जाएगी ।

चुनाव आयोग ने इस बार चुनाव प्रचार से लेकर मतदान केंद्रों तक के लिए कोविड-19 प्रोटोकोल घोषित किया है जिसके तहत ही पूरी चुनाव प्रक्रिया संपन्न की जाएगी। 27 विधानसभा सीटों में 16 विधानसभा सीटें ग्वालियर चंबल संभाग की है जहां पर कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया की इज्जत दांव पर लगी है। हालांकि सरकार बनी रहने के लिए बीजेपी को केवल 9 सीटों की जरूरत है। वर्तमान में उसके पास 107 विधायक हैं जबकि कांग्रेस को अगर वापस सत्ता में लौटना है तो उसे सभी 27 सीटें जीतनी होगी जिसकी संभावना न्यूनतम है।

हालांकि कांग्रेस इस बात की उम्मीद कर रही है कि यदि वह ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतती है तो एक बार फिर सपा बसपा और निर्दलीय विधायक उसका दामन थाम सकते हैं।