कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर लखन घनघोरिया का हमला,कहा- छोटा-मोटा व्यक्ति नहीं गिरा सकता था कमलनाथ की सरकार

कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के बयान के बाद अब कांग्रेस भी उन्हें आड़े हाथों लेने से नहीं चूक रही है। मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया (Former Minister Lakhan Ghanghoriya) ने कैलाश विजयवर्गीय और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) पर जमकर हमला बोला।

-Madhya-Pradesh-Government-can-take-a-decision-like-the-bangal-for-the-CBI--Ghanagoria

जबलपुर,संदीप कुमार। मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार (kamalnath Government) गिराने में अगर किसी का हाथ था तो वह था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) का ना कि धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) का, कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) का जब यह बयान सुर्खियों में आया तो पूरे प्रदेश में इसको लेकर राजनितिक गलियारों में हल्ला मच गया। इधर कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के बयान के बाद अब कांग्रेस (Congress) भी उन्हें आड़े हाथों लेने से नहीं चूक रही है। मध्य प्रदेश के पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया (Former Social Justice Minister Lakhan Ghanghoriya) ने कैलाश विजयवर्गीय और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) पर जमकर हमला बोला।

मंत्री लखन घनघोरिया ने कसा तंज

कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के बयान को लेकर पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने कहा कि ‘व्यक्ति का अपराध भले ही कितना ही बड़ा हो और कितने ही गुप्त तरीके से किया गया हो वह एक न एक दिन सिर चढ़कर जरूर बोलता है और यह व्यक्ति को कभी भूलना नहीं चाहिए।’

ये भी पढ़े- गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कमलनाथ पर निशाना, बताया मध्यप्रदेश का सबसे भ्रष्टतम मुख्यमंत्री

छोटा-मोटा व्यक्ति नहीं गिरा सकता था कमलनाथ की सरकार

मध्य प्रदेश के पूर्व सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने कहा कि कमलनाथ की सरकार (Kamal Nath Government) गिराना किसी छोटे-मोटे व्यक्ति की बस की बात नहीं थी, हमको भी लगता था कि धन-बल, छल-बल से सरकार गिराने का अगर कोई काम कर सकता है तो वह कोई बड़ा व्यक्ति ही होगा।

जनता के चुने सरकार को गिराकर की लोकतंत्र की हत्या

पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया (Former Minister Lakhan Ghanghoriya) ने कहा कि जिस तरह से जनता के द्वारा चुनी गई सरकार को महज 15 माह में ही गिराने का जो पाप किया है, वह लोकतंत्र को तार-तार करने वाला है, कांग्रेस की सरकार गिरा कर संविधान को बर्बाद किया गया है। अगर यह सब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करें तो फिर मुखिया से क्या उम्मीद कर सकते हैं।

कोरोनाकाल में गिराया कांग्रेस की सरकार

पूर्व मंत्री ने कहा कि जब पूरा देश कोरोना जैसी घातक बीमारी से लड़ रहा था, तो उस समय भारतीय जनता पार्टी ने जनता के द्वारा चुनी गई कमलनाथ सरकार को गिराने का काम किया था, ‘यह सब मोदी जी के दिमाग का दिवालियापन और विकृत मानसिकता दर्शाती है।’