कांग्रेस की बैठक बीच में छोड़ बाहर निकले लक्ष्मण सिंह, चर्चाओं का बाजार गर्म

गुना।विजय जोगी| मध्यप्रदेश में उपचुनाव से पहले राज्यसभा चुनाव की अग्नि परीक्षा पार करना कांग्रेस के लिए चुनौती से कम नहीं है। पार्टी अपने आप को एकजुट दिखाने की कोशिश कर रही है। पीसीसी चीफ कमलनाथ के बंगले पर फिर बैठक बुलाई गई थी। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक और राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह बैठक शुरु होने के पहले पहुंचे और कमलनाथ से मुलाकात कर वापस लौट गए। कल हुई बैठक में भी लक्ष्मण सिंह नहीं पहुंचे थे। लक्ष्मणसिंह पिछले काफी दिनों से मुखालफत कर रहे हैं। उन्होंने मीडिया से बात करने से भी इन्कार कर दिया। बता दें कि कल राज्यसभा के चुनाव हैं और इसी को लेकर यह बैठक आयोजित की गई थी। लक्ष्मण सिंह ने दूसरे दिन भी बैठक और मॉक पोल में भाग नहीं लिया।

कल हुई बैठक में कमलनाथ, प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक, दिग्विजय सिंह सहित कांग्रेस के बड़े नेता भी शामिल हुए| लेकिन खुद दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह सहित छह विधायक नहीं आए। कांग्रेस के सीनियर विधायक के पी सिंह, दिग्विजय सिंह के भाई और विधायक लक्ष्मण सिंह और विधानसभा में डिप्टी स्पीकर रही विधायक हिना कांवरे बैठक में नहीं पहुंचीं। इसके अलावा कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी भी बैठक में नहीं पहुंचे। हालांकि कुणाल चौधरी बीमार हैं इसलिए वो नहीं आ पाए। बाकी क्यों नहीं आए इसकी चर्चा है। सबसे ज्यादा कयास चर्चा लक्ष्मण सिंह को लेकर हो रही हैं| अपनी ही पार्टी के खिलाफ बयानबाजी और भाई दिग्विजय सिंह के घर पर धरना दे चुके असंतुष्ट लक्ष्मण सिंह का यूँ बैठक में शामिल न होना सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here