Indore News: आदमखोर बने तेंदुए ने 4 लोगों पर किया हमला, वन विभाग ने पकड़ा

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर के खंडवा रोड क्षेत्र में तेंदुए (Leopard) ने इस कदर आतंक मचा रखा है कि वन विभाग से लेकर चिड़ियाघर के कर्मचारियों की कठिन परीक्षा चल रही है। इधर, जो तेंदुआ (Leopard) कल रात तक एक फार्म हाउस के इर्द गिर्द बना हुआ था और वन विभाग उसे उसी क्षेत्र में सर्चिंग कर रहा वो आज सुबह खंडवा रोड स्थित शिवधाम कालोनी पहुंच गया और वहां एक निर्माणाधीन बहुमंजिला इमारत में घुस गया। मिली जानकारी के मुताबिक इसके पहले तेंदुए (Leopard) ने ऐसा आतंक मचाया कि एक युवक और एक लड़की सहित 7 माह की बच्ची को घायल कर दिया। घायलों को इलाज के लिए एमवाय अस्पताल पहुंचाया गया है। बताया जा रहा है कि वन विभाग की टीम ने तेंदुए को ट्रेंक्यूलाइज कर पहले बेहोश किया और फिर उसे पकड़ लिया। रेस्क्यू ऑपरेशन के समाप्त हो जाने की पुष्टि इंदौर के जनसंपर्क विभाग ने भी की है।

बता दे कि खंडवा रोड़ क्षेत्र में पिछले 24 घण्टो से तेंदुए ने आतंक मचा रखा था। क्षेत्र के रानी बाग लिम्बोदी के करीब एक फार्म हाउस में तेंदुआ देखा गया था जिसकी जानकारी स्थानीय लोगों ने वन विभाग और पुलिस को दी थी। जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया था जिसमे पुलिस के अलावा वन विभाग और इंदौर ज़ू की टीम मौके पर पहुंची थी। रातभर तेंदुए की सर्चिंग फार्म हाउस और आस पास के क्षेत्रों में की गई लेकिन गुरुवार सुबह तेंदुआ खंडवा रोड की शिवधाम कालोनी में पहुंच गया जहां तेंदुए ने एक युवक और दो मासूम बच्चियों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया था। घायलों को इलाज के लिये एम.वाय.अस्पताल पहुंचा दिया गया है।

ये भी पढ़ें – Indore News: Geeta को लेकर PAK का दावा गलत, परिवार से मिलने में आ रहे अभी पेंच

बता दे कि फार्म हाउस में बुधवार को एक वक्त ऐसा भी आया था जब वन विभाग तेंदुए (Leopard) के करीब पहुंच गया लेकिन उसे लापरवाही के चलते ट्रेंकुलाइज नहीं किया जा सका। जिसके बाद वो मौका पाकर खेत की ओर भाग खड़ा हुआ। इधर, आज सुबह से तेंदुए (Leopard) ने खूंखार रूप अपना लिया जिसके बाद क्षेत्र में कर्फ्यू जैसी स्थिति बन गई है। वन विभाग और चिड़ियाघर की टीम लगातार तेंदुए को पकड़ने की कोशिश में जुट गई।  निर्माणाधीन इमारत की तल मंजिल में जब तेंदुआ (Leopard) घुसा था तब वह विभाग ने जाल बिछाकर उसे पकड़ने की कोशिश की और इसी दौरान वो दूसरे रास्ते से इमारत से बाहर निकल गया और फिर उसने वन विभाग के एक कर्मचारी पर हमला बोल दिया वही जैसे तैसे कर्मचारी ने तेंदुए से अपनी जान बचाई।

बहरहाल तेंदुए के आतंक से क्षेत्र में कर्फ्यू जैसी स्थिति बन गई थी लेकिन अब तेंदुए के पकड़े जाने के बाद लोगो मे हर्ष का माहौल है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बेहोश तेंदुए को इंदौर ज़ू में ले जाया जाएगा जहां ज़ू प्रभारी डॉ. उत्तम यादव की देखरेख में उसका इलाज किया जाएगा। वही तेंदुए को सामान्य करने की कोशिश भी की जाएगी। फिलहाल, सरदर्द बन चुका खूंखार तेंदुआ पकड़ा जा चुका है।