Liquor in MP: प्रदेश में एक बार फिर शुरू होगी शराब दुकानों की नीलामी

भोपाल।

मध्यप्रदेश(madhyapradesh) में शराब बिक्री पर लगातार आ रही अड़चनों के बीच अब राज्य सरकार ने शराब दुकानों की नीलामी(auction) करने का फैसला किया है। इसके लिए राज्य सरकार(state government) सिंगल टेंडर ग्रुप सिस्टम(tender group system) के तहत कार्य करेगी। इससे पहले प्रदेश में शराब(liquor) की बिक्री के लिए रोज के हिसाब से साथ-साथ दिन शराब दुकान के लिए टेंडर(tender) निकालने के आदेश जारी हुए हैं। जिसके बाद रोज के हिसाब से 7 दिनों के लिए शराब दुकानों को ठेके पर लिया जा सकेगा।

दरअसल राज्य शासन द्वारा 2020-21 के लिए शराब दुकानों को ठेके पर देने की पॉलिसी(policy) को दो हिस्सों में बांट दिया गया था। वही शराब दुकानों में 25 फीसदी राशि बढ़ाकर दुकानें आवंटित(allot) की गई थी। जिसका विरोध प्रदेश के शराब ठेकेदारों द्वारा किया जा रहा था। जिस पर हाईकोर्ट(highcourt) की सुनवाई के बाद शराब ठेकेदारों ने आवंटित की गई शराब दुकानों को वापस सरकार को सौंप दिया था। जिसको लेकर अब सरकार नए सिरे से प्रदेश में दुकानों की नीलामी करेगी। हालांकि सरकार पहले की तरह 25 फ़ीसदी बढ़े हुए टेंडर पर शराब दुकान की नीलामी करेगी।

बता दें कि कोरोना संकटकाल और लॉकडाउन की वजह से मार्च,अप्रैल और मई माह में सरकार को 2500 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान पहले ही लग चुका है। वहीं अब 25 फ़ीसदी बड़े हुए टेंडर पर दुकानों की नीलामी में माना जा रहा है कि सरकार को 500 करोड़ रुपए की हानि होनी तय है। इधर प्रदेश में कुल 3611 शराब दुकान है। जिसके नीलामी में करीबन 10600 करोड रुपए में हुई थी। 380 समूह में आवंटित किए गए इन दुकानों में 48 समूहों ने दुकान इस सरकार को वापस सौंप दी है।