Lockdown: मुस्लिम धर्मालम्बियों ने घरों में अदा की नमाज़, वीडियो कॉल से दी ईद की मुबारकबाद

जबलपुर।संदीप शर्मा

मुस्लिम धर्मावलंबियों का पवित्र त्यौहार रमज़ान शहर में सादगी के साथ मनाया गया। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लगाए गए लॉक डाउन के चलते मुस्लिम धर्मावलंबियों ने ईदगाहों में नमाज तो अदा नहीं की लेकिन घरों में ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए परंपरा के अनुसार खुदा की इबादत की और अमन का पैगाम दिया। इस मौके पर एक दूसरे को दूर से ईद की मुबारकबाद देने के साथ ही मुस्लिम धर्मावलंबियों ने वीडियो कॉल के जरिए शहर के अलावा दूर दराज इलाकों में रहने वाले अपने रिश्तेदारों, परिचितों और शुभचिंतकों को ईद की शुभकामनाएं दी।

अपने घरों में रहकर ईद की नमाज अदा करने वाले मुस्लिम धर्मावलंबियों का कहना है कि लॉक डाउन के चलते उन्हें सामूहिक रूप से नमाज अदा न कर पाने का मलाल तो है लेकिन उन्होंने कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इस्लाम के साथ ही राष्ट्र धर्म का भी पालन किया है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लगाए गए लॉक डाउन का पालन करने के साथ ही घरों में ही नमाज अदा करने की अपील मध्यप्रदेश के मुफ्ती आजम हजरत मौलाना डॉक्टर हामिद अहमद सिद्दीकी ने भी मुस्लिम धर्मावलंबियों से अपील की थी, जिसका पालन करते हुए शहर में रहने वाले मुस्लिम परिवारों ने अपने घरों में रहकर ही ईद की नमाज अदा की और एक दूसरे को पर्व की मुबारकबाद दी।