Lockdown2: शासकीय स्कूल के बच्चों के लिए स्कूल शिक्षा विभाग कर रहा यह पहल

डिंडोरी।प्रकाश मिश्रा

डिंडोरी के शासकीय स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र इन दिनों कोरोना संक्रमण के बचाव व सावधानी के चलते विद्यालय नही जा पा रहे है इन छात्रों की शिक्षा व स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शासन ने छात्रों के खाते में 221 रुपये की राशि जमा कराई है तो वही इन छात्रों के भोजन के लिए राशन की व्यवस्था कर घरों तक पहुचाया जा रहा है जिससे कोई बच्चा भूखा न रहे साथ ही शिक्षा भी ग्रहण भी कर सके।

दरअसल करोना वायरस के कारण देश भर में लाक डाउन चल रहा है।वहीं स्कूलों में शिक्षण सत्र विगत माह से ही शुरू हो गए है किंतु कोरोना वायरस के चलते स्कूल कॉलेज देश भर में बंद है।लॉक डाउन के कारण छात्रो को स्कूल जाने की अनुमति नहीं है। शिक्षा प्रभावित ना हो इसके लिए शासन ने विद्यार्थियों को घर पर रहकर ही शिक्षा प्रदान करने की योजना बनाई है जिसके निर्देश विभागीय स्तर पर जारी किए जा चुके हैं।इसके लिए शासन द्वारा डिजिटल ऐप रेडियो एवं टीवी के माध्यम से पढाई की व्यवस्था की गई है। करोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर लाकडाउन की स्थिति में कोई भी छात्र भूखा न रहे इसके लिए शासन द्वारा स्व सहायता समूह एवं शिक्षकों के सहयोग से खाद्यान्न समग्री छात्र छात्राओं के घर पहुचाने का काम कर रहा है। मध्याह्न भोजन आवंटन के अनुसार उचित मात्रा में खाद्यान्न सामग्री चावल गेहूं बच्चों के घर तक पहुंचा कर दिया जा रहा है साथ ही शासन द्वारा प्रत्येक छात्रो के खाते में 221 रूपय भी प्रदाय किए गए हैं।

इसी योजना के तहत डिंडोरी जिले के प्रत्येक स्कूल के साथ ही ग्राम पंचायत देवरा के शासकीय माध्यमिक एवं प्राथमिक शाला मे अध्ययनरत लगभग 250 छात्र छात्राओं को शिक्षको द्वारा घर में पहुंचा कर राशन उपलब्ध कराया गया।तो वही शिक्षकों द्वारा सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए कोरोना वायरस से बचाओ के तरीके भी छात्रो बताए गए।