5 किलोमीटर लंबे क्षेत्र में फैले टिड्डी दल, प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई

मंदसौर।तरुण राठौर

कोरोना के साथ ही प्रशासन एक ओर नई समस्या के तौर पर सामने आई टिड्डी दल से भी युद्ध कर रहा है। इसके लिए उन्होंने जिला लेवल से लेकर ग्राम लेवल तक को मैदान में उतारा है। जिसकी मदद से इस विपदा से किसानों को बचाया जा सके। ऐसे में अनुविभागीय अधिकारी मल्हारगढ़ द्वारा अवगत कराया गया कि तहसील मल्हारगढ़ में सुबह से ही सभी ग्रामवासियों को सचेत किया गया था, कि वो अपने ग्राम में टिड्डी दल न रुकने दे।

इसके लिए आवश्यक उपाय करे। इसके साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर पानी के टैंकर, स्प्रे वाले टैंकर एवं ट्रैक्टर की व्यस्था की गई। तीनो नगर पंचायत पिपलियामंडी, मल्हारगढ, नारायणगढ़ को भी फायर बिग्रेड एवं सैनीटाइजर मशीन एवं स्प्रे वाले ट्रैक्टर के साथ अलर्ट रखा था। शाम को जैसे ही टिड्डी दल के ग्राम टकरावद, रणायरा, झारड़ा, तखतपुर, सिंडपन मैं आने की सूचना मिली। तत्काल पुरी टीम के साथ सर्वे किया गया। जैसे ही तखतपुर में स्टे की सूचना मिली, वैसे ही आस पास के ग्राम एवं नगर पंचायत से 3 फायर बिग्रेड, 10 ट्रैक्टर, 6 सेनेटाइजर मशीन, 5 टैंकर तत्काल ग्राम तखतपुर में बुलवा लिए गए। शाम 7 बजे से ही टीम ग्राम तखरपुर में एक्टिव हो गयी।

इसके साथ ही मंदसौर के कृषि वैज्ञानिक एवं सेंट्रल से टिड्डी नियंत्रण दल आवश्यक संशाधनों के साथ ग्राम तखतपुर पहुचे। मन्दसौर के कृषि वैज्ञानिक द्वारा रात को 12 बजे से टिड्डियों को नियंत्रण हेतु स्प्रे करना शुरू किया एवं सेंट्रल दल द्वारा अलसुबह 4 बजे से अभियान शुरू कर दिया। जागरूकता के कारण नतीजन टिड्डी दल की मृत्यु दर संतोषजनक रही है। ग्रामीण जनता, कृषि वैज्ञानिक एवं सेंट्रल टिड्डी नियंत्रण दल के जागरूकता से तत्काल एक्शन के कारण उक्त अभियान तहसील मल्हारगढ में आशातित सफल रहा। कृषि वैज्ञानिक एवं जनप्रतिनिधि ग्रामीण जनता द्वारा संतोष व्यक्त किया गया।

केमिकल के हानिकारक प्रभाव को देखते हुए ग्रामीण जन को क्षेत्र मैं ना आने, मवेशियों को ना चराने एवं क्षेत्र की सब्जी फल चारा उपयोग ना करने हेतु हिदायत दी गई है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए आज भी अनुभाग मल्हारगढ़ के सभी ग्रामों को अलर्ट कर रखा है, ताकि टिड्डी दल किसी भी ग्राम में नहीं रुक सके। सभी ग्रामों में बैंड ढोल ताशे एवं मंदिरों अनाउंसमेंट सिस्टम से तेज ध्वनि उत्पन्न की जा रही हैं। इसके अलावा टिड्डी दल से निपटने हेतु कल की अपेक्षा दुगने स्तर पर व्यवस्था की गई है, ताकि किसी भी आपातकालीन व्यवस्था में तत्परता से निपटा जा सके। टिड्डी दल तखतपुरा से नाहरगढ़ और सोनगरा की तरफ निकल गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here