लोकायुक्त का शिकंजा, डाटा एंट्री ऑपरेटर और भृत्य रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

डबरा।
मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा में लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई की है। लोकायुक्त ने बीआरसी कार्यालय में छापा मारकर डाटा एंट्री ऑपरेटर और भृत्य को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है।आरोप है कि दोनों ने बजरंग स्व सहायता समूह के भुगतान राशि की रसीद देने के एवज में 3300 रुपए की रिश्वत की मांग थी । लोकायुक्त टीम ने उक्त दोनों कर्मचारियों के खिलाफ रिश्वत अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, डाटा एंट्री ऑपरेटर अतुल गुप्ता और भृत्य नरेंद्र पिप्पल ने देवरा गांव में संचालित बजरंग स्व सहायता समूह के भुगतान राशि की रसीद देने के एवज में 3300 रुपए की रिश्वत की मांग की थी लेकिन सौदा दो हजार में तय हुआ था।फरियादी ब्रजेंद्र सिंह रावत ने इसकी शिकायत ग्वालियर लोकायुक्त से की थी और सबूत के तौर पर रिकार्डिंग भी सौंपी थी। टीम ने योजना बनाकर फरियादी को पैसे लेकर भेजा।।फरियादी रावत ने बीआरसी कार्यालय के डाटा एंट्री ऑपरेटर अतुल गुप्ता को यह राशि दी। बाद में गुप्ता ने एक हजार रुपए भृत्य को दे दिए। पैसे दिए जाने के बाद लोकायुक्त की टीम ने छापाकर दोनों कर्मचारियों को पकड़ लिया॥ दोनों के हाथ धुलाने पर वह लाल हो गए।लोकायुक्त टीम ने उक्त दोनों कर्मचारियों के खिलाफ रिश्वत अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।।