मध्य प्रदेश में नहीं लगेगा लॉकडाउन, अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों में बनाए जाएंगे छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन

होम आइसोलेशन वाले मरीज बाहर न निकलें, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

Shivraj Singh Chauhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj SIngh CHauhan) ने साफ़ कर दिया है कि आर्थिक गतिविधियों को सुचारू रखने के लिए प्रदेश में अब लॉकडाउन (Lockdown) नहीं लगाया जाएगा। जिन क्षेत्रों में अधिक संक्रमण है वहां छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे। हम पूरी सावधानियां बरतते हुए कोरोना का डटकर मुकाबला करेंगे तथा उसे शीघ्र परास्त करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में कैबिनेट बैठक से पूर्व कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। जिसमे मंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से शामिल हुए। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस भी बैठक में उपस्थित थे।

प्रदेश की मृत्यु दर 1.6 प्रतिशत
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की मृत्यु दर 1.6 प्रतिशत है। सर्वश्रेष्ठ उपचार उपलब्ध करवाकर प्रदेश में मृत्यु दर को न्यूनतम किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश में अब तक लगभग दो लाख व्यक्ति कोरोना से ग्रसित हुए हैं, जिनमें से 3200 की मृत्यु हुई है।

गत 1 सप्ताह में कोरोना के प्रकरणों में अधिक वृद्धि
प्रदेश में गत 1 सप्ताह में कोरोना के प्रकरणों में अधिक वृद्धि दर्ज की गई है। गत 4 दिनों से प्रतिदिन प्रदेश में लगभग 16 से 17 सौ नए मरीज आ रहे हैं। इंदौर में आज 572, भोपाल में 332, ग्वालियर में 69, रतलाम में 53, जबलपुर में 48 तथा विदिशा में 34 मरीज पाए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन सभी जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए। सागर जिले में मृत्यु दर 2.54 होने पर वहां उपचार की सर्वोत्तम व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए।

61% मरीज होम आइसोलेशन में
प्रदेश में कोरोना के मरीजों में 61% मरीज होम आइसोलेशन में है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज घर से बाहर नहीं निकलें अन्यथा संक्रमण फैलेगा। डिस्ट्रिक्ट कमांड एन्ड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से उनकी निरंतर मॉनिटरिंग की जाए।

पर्याप्त रहे अस्पतालों में बेड्स की संख्या
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सर्दियों और शादियों के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है, अतः अस्पतालों में पर्याप्त बेड्स एवं ऑक्सीजन बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जानी चाहिए। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में सभी स्थानों पर पर्याप्त बेड्स और ऑक्सीजन बेड्स की संख्या है।