भोपाल। एमपी में लगातार बढ़ते कोरोना के आंकड़ों को देखते हुए शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने कॉलेज की परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया है। राज्य शासन उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग की स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। नयी तारीख़ें बाद में घोषित की जाएंगी।

दरअसल, उच्च शिक्षा विभाग की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई और तकनीकी शिक्षा विभाग की परीक्षाए 16 जून से 31 जुलाई तक निर्धारित थी।लेकिन प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के आंकड़ों को देखते हुए सरकार ने परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला किया है।फिलहाल नई तारीख घोषित नही की गई है। लेकिन कहा जा रहा है कि राज्य शासन द्वारा आगामी परीक्षा तिथियां अलग से घोषित की जाएंगी। कोरोना संक्रमण के कारण प्रोफेसर और छात्र संगठन परीक्षा कराने का लगातार विरोध कर रहे थे।

बता दें कि विश्वविद्यालय परीक्षाओं की तारीखें घोषित कर दी गई थी। मध्यप्रदेश शासन के उच्च शिक्षा विभाग एवं माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश ने UG-PG EXAM और 12th हायर सेकेंडरी के बचे हुए पेपर कराने का फैसला लिया था। जिसके बाद से कोरोना संकट को देखते हुए लगातार विद्यार्थियों द्वारा जनरल प्रमोशन की मांग की जा रही थी। प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 11 हजार पहुंचा गया है और 500 के करीब मौतें हो चुकी है। वही इंदौर और भोपाल में भी आंकड़ों में बढोत्तरी हो रही है। इंदौर में जहां चार हजार तो वही भोपाल में 2200 के  करीब कोरोना मरीज मिल चुके है, हालांकि एमपी का रिकवरी रेट भी अच्छा है । वर्तमान में मध्यप्रदेश देश के आठवें स्थान पर है।