पहले से अधिक भव्य होगा महाकाल का दरबार, दूसरे चरण में किए जाएंगे आकर्षक निर्माण

Mahakal Lok: उज्जैन (Ujjain) में महाकालेश्वर मंदिर परिसर का लगातार विस्तार और सुंदरीकरण किया जा रहा है। हाल ही में यहां महाकाल लोक का लोकार्पण किया गया है। दूसरे चरण के काम भी शुरू हो चुके हैं और इस योजना को बढ़ाकर 700 करोड रुपए से 1174 करोड रुपए की कर दिया गया है। इसके बाद अब सड़क रूप में और कुछ नए निर्माण कार्य किए जाने वाले हैं। मंत्री शिवराज सिंह चौहान इन योजनाओं को स्वीकृति प्रदान कर चुके हैं।

इन योजनाओं के मुताबिक 112 करोड़ की लागत से मंदिर पहुंचने के लिए सड़कों का निर्माण किया जाने वाला है। कलेक्टर आशीष सिंह के मुताबिक इसके अलावा बहुत सारे आवश्यक कार्य किए जा रहे हैं। मंदिर परिसर और भी भव्य होगा और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अन्य कार्य किए जाएंगे।

ये होंगे आकर्षक निर्माण

रेलवे स्टेशन से लेकर महाकाल मंदिर तक 209 करोड़ की लागत से रोपवे का निर्माण किया जाएगा। इसका एक स्टेशन त्रिवेणी संग्रहालय पर भी बनाया जाएगा। रुद्रसागर पर अष्टभुजा आकार की तीन ध्यान कुटिया का निर्माण भी होगा। महाकाल मंदिर के अंदर नंदीहाल का रिनोवेशन किया जाने वाला है। यहां पर नया फ्लोर, डेकोरेटिव लाइट, चांदी की क्लेडिंग और एयर कूलिंग सिस्टम लगाया जाएगा।

विश्व में लोकप्रिय होगा उज्जैन

इंदौर में जनवरी 2023 में प्रवासी भारतीय सम्मेलन होने जा रहा है, जहां पर जी-20 देशों के सदस्य मौजूद होंगे। ये इवेंट महाकाल लोक की लोकप्रियता में चार चांद लगाने और उज्जैन की छवि को विश्व भर में पहुंचाने का शानदार अवसर होगा। इस सम्मेलन में अमेरिका, इंग्लैंड समेत यूरोपीय देशों के प्रतिनिधि शामिल होने वाले हैं जो निश्चित तौर पर उज्जैन आएंगे।

दूसरे चरण में होंगे ये निर्माण

महाकाल विस्तारीकरण के दूसरे चरण में कई काम प्रस्तावित किए गए हैं। जिसके अंतर्गत महाराजवाड़ा परिसर को हेरिटेज धर्मशाला के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके बेसमेंट में पार्किंग और वेंडर क्षेत्र भी बनाया जाएगा। नीलकंठ वन विकास और नीलकंठ वन मार्ग आर-18 का विकास भी होगा। रुद्रसागर पर पैदल पुल का निर्माण करने के साथ सागर का पुनरुद्धार और लेक फ्रंट व्यू तैयार किया जाएगा।

महाकाल दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं के सुगम शिखर दर्शन के लिए 16.10 करोड़ खर्च किए जाने वाले हैं। लेजर और वॉटर स्क्रीन शो श्रद्धालुओं के लिए चलाया जाएगा। महाकालेश्वर मंदिर में भूमिगत प्रतीक्षालय और आपातकालीन प्रवेश और निर्गम द्वार का निर्माण होगा। हरी फाटक पर पार्किंग निर्माण समेत त्रिवेणी से चारधाम और हरसिद्धि मार्ग का निर्माण कर अन्य सड़कों का विकास भी होगा। मंदिर पहुंच मार्ग पर भी विशेष ध्यान दिया जाने वाला है। इसके अलावा त्रिवेणी संग्रहालय का विस्तार, रामघाट का सौंदर्यीकरण, अन्न क्षेत्र का निर्माण, धर्मशाला निर्माण, पुलिस क्वार्टर विस्थापन और सीसीटीवी तथा एक्सेस नियंत्रण प्रणाली का विस्तार किया जाएगा।

दूसरे चरण के कार्यों में महाकाल लोक में पुलिस थाना भी खोला जाने वाला है। इस पुलिस थाने में एक निरीक्षक, 12 उपनिरीक्षक और 173 जवानों का स्टाफ नियुक्त किया जाएगा। त्रिवेणी संग्रहालय के सामने 45 करोड़ की लागत से पार्किंग और भोजनशाला का विस्तार होगा। कुल मिलाकर 21 काम किए जाने हैं जिन्हें जून 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। कुछ काम शुरू हो चुके हैं और कुछ डिजाइन और निविदा स्वीकृत होने के बाद शुरू कर दिया जाएंगे।