Republic Day 2023: मिलें गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि इजीप्ट राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी से

इजीप्ट के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी इस गणतंत्र दिवस पर भारत के मुख्य अतिथि होंगे।

Republic Day 2023: 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में इजीप्ट के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी मुख्य अतिथि होंगे। यह पहली बार है जब अरब रिपब्लिक ऑफ़ इजीप्ट के राष्ट्रपति को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है।

कौन है अब्देल फत्ताह अल-सिसी ?

इजीप्ट के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी इस गणतंत्र दिवस पर भारत के मुख्य अतिथि होंगे। 68 वर्षीय प्रभावशाली अरब नेता 24 से 26 जनवरी तक भारत आने वाले हैं।
अल-सिसी का पालन-पोषण अल-गमालिया में हुआ था, जो काहिरा के पुराने शहर के यहूदी क्वार्टर के किनारे स्थित है।उन्होंने इजीप्ट में मिलिट्री अकादमी में अध्ययन किया, और बाद में 1992 में यूके ज्वाइंट सर्विसेज कमांड एंड स्टाफ कॉलेज में अपना सैन्य प्रशिक्षण जारी रखा, 2006 में पेंसिल्वेनिया में यूएस आर्मी वॉर कॉलेज से मास्टर डिग्री भी प्राप्त की।

जून 2012 में ब्रदरहुड में एक वरिष्ठ व्यक्ति मोहम्मद मुर्सी इजीप्ट के पहले डेमोक्रॅटिकली इलेक्टेड राष्ट्रपति बने। दो महीने बाद, उन्होंने सेना और रक्षा मंत्री के जनरल सिसी कमांडर-इन-चीफ नियुक्त किया।
2013 की गर्मियों में एल-सिसी सत्ता में आए, जहां उन्होंने 2014 में ऑफिशल रूप से राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभालने से पहले मोहम्मद मुर्सी के हेल्पलेस एडमिनिस्ट्रेशन को नीचे लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 3 जून 2014 को, उन्हें 96.9 प्रतिशत वोट के साथ राष्ट्रपति चुनाव का विजेता घोषित किया गया।

जाने इजीप्ट राष्ट्रपति की भारत यात्रा के बारे में

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने शनिवार को कहा कि इजीप्ट के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी की तीन दिवसीय भारत यात्रा से दोनों देशों के बीच “टाइम-टेस्टेड ” पार्टनरशिप को गहरा करने की उम्मीद है।

25 जनवरी को मोदी और सिसी के बीच वार्ता के बाद भारत और इजीप्ट में कृषि, साइबरस्पेस और सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए लगभग आधा दर्जन समझौते होने की उम्मीद है। चर्चाओं में रक्षा और सुरक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने पर विशेष ध्यान देने की उम्मीद है।
इजीप्ट के राष्ट्रपति ने पहले अक्टूबर 2015 में तीसरे भारत-अफ्रीका फोरम समिट में भाग लेने के लिए भारत का दौरा किया था, जिसके बाद सितंबर 2016 में उनकी राजकीय यात्रा हुई थी।