Mid-Day-Meal: CM शिवराज ने छात्रों के खाते में जमा की दूसरी किश्त

भोपाल।

देशभर में कोरोना(corona) संकटकाल और लॉकडाउन(lockdown) के बीच सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं। जिसके बाद सरकारी स्कूलों में छत्रों को मिलने वाले मिड-डे-मिल(Mid-day-meal) की व्यवस्ता सरकार दूसरे तरह से कर रही है। ताकि कोई भी बच्चा इससे वंचित न रह जाए। इसी को लेकर प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान(CM Shivraj singh chouhan) खाद्य सुरक्षा भत्ता छात्रों के खातों में पहुंचा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहली बार ग्रीष्मकालीन छुट्टियों में मई(may) और जून(june) महीने के 37 दिनों की 145.92 करोड़ के दूसरी क़िस्त की राशि 66.27 लाख विद्यार्थियों के खातों में जमा कराई गई है।

दरअसल शिवराज सरकार ने छुट्टियों में भी छात्र छात्राओं की भोजन की व्यवस्था की है। मई और जून महीने के 37 दिनों की 145.92 करोड़ की राशि 66.27 लाख विद्यार्थियों के खातों में जमा कराई गई है। इससे पहले मार्च और अप्रैल के महीने में 33 दिन की राशि 117.11 करोड़ रुपए जमा कराए जा चुके हैं। मिड डे मील तैयार करने वाले रसोइयों को भी दो किस्तों में 84 करोड़ की राशि खातों में पहुंचाई गयी है। जिसके साथ ही शिवराज सरकार ने लॉकडाउन में अबतक कुल 66 लाख विद्यार्थियों के खातों में 146 करोड़ की राशि जमा कराई है।

बता दें कि शिवराज सरकार ने सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले प्राइमरी और मिडिल कक्षाओं के छात्रों को मिड डे मील के लिए स्कूलों की तरफ से अनाज वितरण करवाने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद अनाज बाजार में शिक्षकों की ड्यूटी लगी है। छात्र-छात्राओं के घर अनाज पहुंचाने की जिम्मेदारी भी शिक्षकों को दी गयी है। प्रदेश भर के 1.13 लाख शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय, अनुदान प्राप्त शालाओं, मदरसों, बाल श्रम परियोजना के स्कूलों के बच्चों को मध्‍याह्न भोजन यानी स्कूलों में दोपहर में पके हुए भोजन की सुविधा अब प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में पढ़ाई करने वाले 66.27 लाख बच्चों को मिल रही है।