मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने की विभागों की समीक्षा बैठक, दिए ये स्पष्ट निर्देश

यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhara Raje Scindia) ने कहा कि प्रशिक्षक दूसरे जिलों की अकादमी के खिलाड़ी, जो कोरोना के चलते अपने घर पर हैं। उनसे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा करें और उन्हें फिजिकल ट्रेनिंग तथा योग करने को प्रेरित करें।

Yashodhara Raje Scindia

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) उपचुनाव(byelection) से पूर्व मंत्रियों ने भी कमर कस ली है। अपने-अपने विभागों के लगातार समीक्षा के साथ-साथ खामियों पर भी मंत्रियों ने नजर बनाए रखी है। इसी बीच खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया(Sports and Youth Welfare Minister Yashodhara Raje Scindia) ने भी विभागीय गतिविधियों की समीक्षा की एवं प्रशिक्षकों को विशेष निर्देश दिए हैं। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा है कि जब प्रशिक्षक अवकाश पर हो या किसी प्रतियोगिता में शामिल हो ऐसे समय में उसे वीड़ आउट करने की प्रक्रिया को रोका जाना चाहिए।

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया(Yashodhara Raje Scindia) ने विभागीय गतिविधियों की समीक्षा और प्रशिक्षकों से चर्चा के दौरान कहा कि किसी भी खिलाड़ी को बिना उसके प्रशिक्षक की जानकारी और सहमति के वीड आउट नहीं किया जाये। सिंधिया ने कहा कि ऐसी स्थिति में जब प्रशिक्षक अवकाश पर हो अथवा किसी प्रतियोगिता में शामिल होने के लिये बाहर गया हो।उस समय उसे खेल से हटाने की प्रक्रिया को रोका जाये। बिना प्रशिक्षक की अनुमति के खिलाड़ी को खेल से बाहर नहीं किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही खेल मंत्री सिंधिया ने कुश्ती एवं कराटे के प्रशिक्षकों से चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के चार महीने के बाद स्थानीय खिलाड़ी धीरे-धीरे प्रशिक्षण पर लौट रहे हैं। यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhara Raje Scindia) ने कहा कि प्रशिक्षक दूसरे जिलों की अकादमी के खिलाड़ी, जो कोरोना के चलते अपने घर पर हैं। उनसे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा करें और उन्हें फिजिकल ट्रेनिंग तथा योग करने को प्रेरित करें।

बता दें कि खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने टी.टी. नगर स्टेडियम परिसर में खिलाड़ियों की सुविधा के लिये 17 करोड़ 21 लाख की लागत से निर्माणाधीन इण्डोर हॉल का भी निरीक्षण किया। संचालक खेल एवं युवा कल्याण पवन कुमार जैन ने जानकारी दी कि दूसरे चरण में बोर्डिंग खिलाड़ियों को बुलाने और उन्हें प्रशिक्षण दिये जाने के संबंध में प्रशिक्षकों से विस्तृत चर्चा की गई है।