ग्वालियर, अतुल सक्सेना। सड़क दुर्घटना में घायल एक नाबालिग की मौत से गुस्साए परिजनों और क्षेत्रीय लोगों ने शव को सड़क पर रखकर चक्का जाम कर दिया। परिजनों का आरोप है कि एक स्थानीय भाजपा नेता पिछले दिनों ग्वालियर आये भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष की स्वागत रैली में शामिल करने नाबालिगों को जिस वाहन में ले गए थे वो वाहन पलट गया और उसमें कई लड़के घायल हो गए जिसमें से एक की मौत हो गई है। परिजनों ने आरोप लगाए कि पैसों का लालच देकर नाबालिगों को स्थानीय नेता ले गए थे। परिजनों की मांग है कि उन्हें उचित मुआवजा दिया जाए और दोषियों को गिरफ्तार किया जाए।

शुक्रवार को भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश चौधरी ग्वालियर आये थे। पार्टी नेताओं ने उनका जोरदार स्वागत भी किया था जिसके लिए भीड़ भी जुटाई गई थी। इसी भीड़ में शामिल होने गए नाबालिगों से भरा एक वाहन पलट गया था जिसमें कई लड़के घायल हो गए जिसमें से एक नाबालिग आदित्य बघेल की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। गुस्साए परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर चक्का जाम कर दिया। और दोषी भाजपा नेताओं पर कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे।

पैसों का लालच देकर लोडिंग ऑटो में भरकर ले गए थे

घायलों में एक के परिजन विजय बाल्मीकि ने बताया कि पिछले दिनों भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश चौधरी की स्वागत रैली में शामिल होने के लिए भाजपा नेता आशु घुरैया और बल्लू बलराम जाटव हमारे मोहल्ले स्टेशन बजरिया से बहुत से नाबालिगों को ले गए थे उन्होंने सभी को पैसों का लालच दिया शायद 100 -100 दिये और एक लोडिंग ऑटो में भरकर ले गए तभी रेस कोर्स रोड ( मेला रोड) पर सनसिटी के सामने लोडिंग वाहन का संतुलन बिगड़ गया और वो पलट गया जिसमें भरे सभी 17-18 लड़के घायल हो गए। दुर्घटना होते ही आशु भाग गया। लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया जिसमें से एक आदित्य बघेल की मौत हो गई। शिकायत के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

शव को सड़क पर रखकर किया चक्का जाम, विधायक पहुंचे

बीती रात आदित्य की मौत के बाद गुस्साए परिजनों और स्थानीय लोगों ने स्टेशन बजरिया के पास शव को रखकर चक्का जाम कर दिया। परिजनों की मांग थी कि मृतक के परिजन और घायलों को उचित मुआवजा दिया जाए और लड़कों को रैली में ले जाने वाले भाजपा नेता आशु घुरैया और बल्लू बलराम जाटव को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। चक्का जाम की सूचना पर ग्वालियर पूर्व विधानसभा के कांग्रेस विधायक डॉ सतीश सिंह सिकरवार मौके पर पहुंचे उन्होंने भी दोषियों पर कार्रवाई की मांग की और कहा कि मृतक के परिजनों को पांच लाख रुपये और सरकारी नौकरी एवं घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाए।

पुलिस ने दिलाया उचित कार्रवाई का भरोसा

चक्का जाम की सूचना पर पुकीस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने समझाइश दी। सीएसपी राम नरेश पचौरी ने कहा कि जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ मामला दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई की जायेगी और शासन से उचित मुआवजा भी दिलाया जायेगा।