MP: सितम्बर में आयोजित होगा विधानसभा सत्र, सचिवालय ने राज्यपाल को भेजा प्रस्ताव

युवा कांग्रेस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

प्रदेश में फैले कोरोना संक्रमण(Corona infection) के बीच अब मध्यप्रदेश का विधानसभा सत्र(Vidhan Sabha session of Madhya Pradesh) जल्द ही आयोजित किया जाएगा। जिसको लेकर सचिवालय(Secretariat) ने प्रस्ताव पर सीएम शिवराज(CM Shivraj) से चर्चा की। प्रदेश में विधानसभा का आगामी सत्र 21 से 23 सितंबर तक आयोजित होगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) की सहमति के बाद विधानसभा सचिवालय(Assembly Secretariat) ने यह प्रस्ताव राज्यपाल आनंदीबेन पटेल(Governor Anandiben Patel) के पास भेज दिया है। जहां राज्यपाल की मुहर के बाद आगे की गतिविधियां पूरी की जाएगी।

दरअसल विधानसभा का आखिरी सत्र 24 मार्च को था और नियम के अनुसार हर छह माह में सत्र बुलाना अनिवार्य है जिसको देखते हुए अब 21 से 23 सितंबर तक विधानसभा का सत्र आयोजित किया जाएगा। पहले दिन श्रद्धांजलि के बाद विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव किया जायेगा। जिसके बाद सदन की कार्यवाही औपचारिक रूप से शुरू होगी। तीन दिवसीय सत्र में प्रदेश का बजट पारित होगा। इसको लेकर सत्र का विस्तृत कार्यक्रम जल्द ही तय किया जाएगा।

इससे पहले विधानसभा सचिवालय की ओर से जारी नोटिफ‍िकेशन(Notification) में कहा गया था कि मानसून सत्र 20 जुलाई से शुरू होकर 24 जुलाई तक चलेगा। पांच दिवसीय इस सत्र में कुल पांच बैठकें होनी थी। इसके साथ ही विधि विषयक और वित्‍तीय कार्य संपादित होने थे। पांच दिन के इस सत्र में प्रदेश का बजट भी पारित होना था लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सत्र को स्थगित कर दिया गया था।

अब एक बार फिर सत्र ऐसे समय में आयोजित किया जा रहा, जब राज्‍य कोरोना(corona) संकट से जूझ रहा है। प्रदेश में कोरोना के लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं। जिससे प्रदेश में अब संक्रमितों की संख्या 49493 हो गई है। इसी के साथ मध्य प्रदेश में विधानसभा की 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव(By-election) के पहले विधानसभा का सत्र बुलाया जा सकेगा।