MP : जब सदन में कमलनाथ ने की CM शिवराज की तारीफ, विश्वासघात पर भी हुआ तकरार

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री जी इसी रूप में हैं लेकिन आपका रूप हमेशा बदल जाता है।

कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश विधानसभा बजट सत्र (Madhya Pradesh Budget Session) की कार्रवाई फिर से शुरू हो गई है। हालांकि विधानसभा सदन की कार्रवाई आज दोनों पक्ष के नेताओं के हंसी मजाक से शुरू हुई। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) की तारीफ भी की। हालांकि सदन की कार्रवाई शुरू होने के बाद लक्ष्मण सिंह (lakshman singh) ने तुलसी सिलावट (tulsi silawat) पर विश्वासघात के आरोप लगाए।

सदन की कार्रवाई शुरू होने से पहले दोनों पक्ष के नेताओं में हंसी ठिठोली का माहौल रहा। इस दौरान कमलनाथ भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ किए बिना रह नहीं पाएं। उन्होंने कहा कि आप ऐसे ही कपड़े में सदन में आया कीजिए। बड़े अच्छे लगते हैं। जिस पर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) ने कहा कि मुख्यमंत्री जी इसी रूप में हैं लेकिन आपका रूप हमेशा बदल जाता है।

हालांकि इस बयान को हंसी ठिठोली के रूप में लेते हुए कमलनाथ ने कहा कि आप सदन में किसी से भी पूछ सकते हैं। मैं हमेशा एक ही रूप में रहता हूं। जिस पर कैबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव (gopal bhargav) ने कहा कि यह बात सही है। कमलनाथ किसी भी मौसम में एक ही रूप में रहते हैं।

जिस पर कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह (govind singh) ने पलटवार करते हुए कहा कि कमलनाथ जी कुर्ता ही पहने रहते हैं। जब भी हमें सर्दी में जैकेट, स्वेटर की जरूरत पड़ती है। इस बात पर चुटकी लेते हुए कमलनाथ ने कहा कि जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष से बात करके एक ट्रेनिंग सेशन (training session) बुलाए जाएंगे। जहां में सब को ट्रेनिंग दे दूंगा।

Read More: जिले में विद्युत उपभोक्ताओं पर साढ़े चार सौ करोड़ बकाया, चलेगा विद्युत विभाग का सघन वसूली अभियान

वहीँ इस हंसी ठिठोली के बाद सदन की कार्रवाई शुरू हुई। जहां मध्य प्रदेश सरकार ने दावा किया कि प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ तेजी से कार्रवाई की जा रही है। वहीं रेत माफियाओं को जड़ से उखाड़ने के लिए नई नीति तैयार की जा रही है। जिस पर कांग्रेस ने आरोप लगाया कि रेत माफियाओं को शिवराज सरकार का संरक्षण प्राप्त है। इस पर मंत्री उषा ठाकुर (usha thakur)  ने कहा कि वन विभाग से जेसीबी (JCB)  मशीन छुड़ाने का मामला भी कांग्रेस ने सदन में उठाया था।

वहीं सरकार से सवाल पूछते हुए भोपाल से विधायक आरिफ अकील (aarif aqil) ने कहा कि क्या प्रशासन की मिलीभगत से रेत माफिया द्वारा अवैध रेत खनन किया जा रहा है। जिस पर खनिज मंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में अवैध खनन को रोकने का प्रयास जारी है और अवैध खनन नहीं किया जा रहा है। वही टेंडर के माध्यम से खदानों का संचालन किया जा रहा है। हालांकि रेत माफियाओं के आरोप-प्रत्यारोप के बीच कांग्रेस ने सदन में वाकआउट भी किया।

Read More: लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, उपयंत्री 50 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, निलंबित

इधर लक्ष्मण सिंह द्वारा चाचौड़ा विधानसभा क्षेत्र में आदिवासी इलाके फतेहपुर तालाब में कार्य बंद होने का मामला सदन में प्रस्तुत किया गया। जिसमें जवाब देते हुए जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय से अनुमति मिलते ही जल्द उस पर कार्य शुरू किया जाएगा। जिसके बाद लक्ष्मण सिंह ने तुलसी सिलावट पर तंज कसते हुए कहा कि आपकी बात पर हम विश्वास नहीं कर सकते। आप पहले ही विश्वासघात कर चुके हैं। हालाकि यहां पर लक्ष्मण सिंह का सीधा सीधा निशाना तुलसी सिलावट पर कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने को लेकर माना जा रहा है।

वही विधानसभा में सप्लीमेंट्री बजट पेश किया जाएगा। इसे पारित करने के लिए सदन में वोटिंग की जाएगी। बता दें कि कोरोना काल को देखते हुए 2021-22 का पहला सप्लीमेंट्री विधानसभा में पारित नहीं किया गया था। इसके बाद सरकार ने अध्यादेश के माध्यम से सरकार के फैसले को मंजूरी दी थी।