मप्र उपचुनाव : CM शिवराज और ज्योतिरादित्य सिंधिया को कमलनाथ की खुली चुनौती

इंदौर, आकाश धोलपुरे। जिस कर्जमाफी को आधार बनाकर कांग्रेस 15 सालों बाद सत्ता में आई अब उसी कर्जमाफी को लेकर उपचुनाव में कमबैक की तैयारी में जुट गई है। पूर्व सीएम और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) ने दावा किया है कि उन्होंने 15 महिनों में 26 लाख किसानों का कर्जा माफ किया है, वही उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और भाजपा राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि अगर ये झूठ है तो इस दावे का खंडन करके दिखायें।

दरअसल, रविवार को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ इंदौर के सांवेर के अर्जुन बरोदा गांव में कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू (Premchand Guddu) के समर्थन में एक विशाल जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा कि मेरी सरकार ने राज्य के 26 लाख किसानों का कर्ज माफ किया था। मैं शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया को खुलेआम चुनौती देता हूं कि वह मेरी इस बात का खंडन करके दिखायें ।उन्होंने आगे कहा कि मैं प्रदेश की जनता से और सांवेर की जनता से पूछना चाहता हूं कि वह बताएं कि क्या माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ मैंने कोई पाप किया , क्या मिलावट के खिलाफ युद्ध छेड़ मैंने कोई गलती करी , क्या लोगों को शुद्ध दूध पिला कर मैंने कोई गलती करी , क्या यह मेरा गुनाह है ,जो सौदेबाजी कर मेरी सरकार गिरा दी गई ? क्या प्रदेश की पहचान माफ़ियाओ से होगी , मिलावटखोरों से होगी।

नाथ यही नही रुके उन्होंने सिंधिया और शिवराज को घेरते हुए कहा कि दल-बदल कर भाजपा में शामिल होने के बाद सिंधिया इन दिनों कांग्रेस के खिलाफ जमकर बयानबाजी कर रहे हैं। लेकिन कांग्रेस में रहने के दौरान वह किसान कर्ज माफी को लेकर उनकी अगुवाई वाली पूर्ववर्ती सरकार की तारीफ करते थे। वही उन्होंने कहा कि  मुझे लगा था कि शिवराज जी इतने वर्षों बाद अब झूठी घोषणाओं से बाहर जाएंगे लेकिन अभी भी उनका झूठ बोलने का काम निरंतर जारी है।मैं कभी घोषणा नहीं करता , मैंने तो मुख्यमंत्री रहते भी एक भी घोषणा नहीं की।इनको सड़क पर रोजगार को लेकर भटकता नौजवान-युवा दिखाई नहीं देता , इनकी आंखें बंद है , इनको मदद के लिए चिल्लाता किसान दिखाई नहीं देता क्योंकि इनके कान बंद है , इनका तो सिर्फ मुंह चालू है।मुंह चलाने और सरकार चलाने में बड़ा अंतर है। यह लोग आज सिर्फ घोषणा की राजनीति कर जनता को गुमराह करने में लगे हुए हैं।यह लोग सिर्फ घोषणा की ,कलाकारी की राजनीति जानते हैं।अभी अगले 6 महीने तक ये लोग कई झूठी घोषणाएं करेंगे।

आप सबको पता है हमको कैसा मप्र सौंपा गया था-कमलनाथ

नाथ ने आगे कहा कि आज प्रदेश की इन्होंने क्या हालत कर दी , तस्वीर आपके सामने है।आपने कभी गुजरात का मजदूर देखा है ,आपने कभी केरल का मजदूर देखा है ,आपने कभी तमिलनाडु का मजदूर देखा है लेकिन आपने टीवी पर भी देखा होगा तो मध्यप्रदेश का मजदूर देखा होगा।इन्होंने अपने 15 वर्ष की सरकार में मध्यप्रदेश को सबसे ज्यादा मजदूरों का उत्पादन वाला राज्य बना कर रख दिया।इन्होंने अपनी 15 वर्ष की सरकार में मुझे कैसा प्रदेश सौंपा।बेरोजगारी में नंबर वन ,महिलाओं से अत्याचार में नंबर वन ,किसानों की आत्महत्याओं में नंबर वन।हमारी सरकार को तो काम करने के लिए मात्र साढे 11 माह ही मिले,इसमें भी हमने अपनी नीति और नियत का परिचय दिया।प्रदेश के युवाओं का भविष्य सुरक्षित रखने के लिए हमने रात- दिन काम किया।मैं दोहराना नहीं चाहता हमने किसानों की कर्ज माफी के लिए क्या किया , बिजली के सस्ते बिलों को लेकर हमने क्या किया , माफियाओं और मिलावटखोरों के खिलाफ हमने क्या किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here