महाविद्यालय परीक्षा को लेकर बड़ी मांग, राज्यपाल को पत्र लिख की ये अपील

कर्मचारी के लिए विशेष मांग करते हुए प्रांत अध्यक्ष कैलाश त्यागी ने राज्यपाल से मांग की है कि अन्य राज्यों के सामान मध्यप्रदेश में भी संक्रमित हुए शिक्षकों कर्मचारियों को 30 दिन का विशेष अवकाश स्वीकृत करने का प्रावधान किया जाए।

भोज मुक्त विश्वविद्यालय

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना (corona) मामले में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। मार्च महीने से संक्रमण की रफ्तार में तेजी आई है। वहीं बीते दिनों प्रदेश में संक्रमण के 917 मामले सामने आए। जिसके बाद अब प्रदेश में विश्वविद्यालय की परीक्षा ऑनलाइन (exam online) कराने की मांग की गई है। दरअसल प्रांतीय शासकीय महाविद्यालय प्राध्यापक संघ (Provincial Government College Professors Association) के प्रांत अध्यक्ष कैलाश त्यागी (kailash tyagi)  ने राज्यपाल को पत्र लिखा है।

अपने लिखे पत्र में कैलाश त्यागी ने महामहिम राज्यपाल से कोरोना संक्रमण को देखते हुए विश्वविद्यालय के परीक्षा ऑनलाइन कराने की मांग की है। पत्र में लिखा गया है कि प्रतिदिन कोरोना के बड़े मामले सामने आ रहे हैं। बीते 1 सप्ताह में संक्रमण में कई गुना वृद्धि देखने को मिली है।

Read More: MP Board: 10वीं और 12वीं के प्रैक्टिकल परीक्षा और क्वेश्चन बैंक से जुडी बड़ी खबर, देखे यहां

ऐसी स्थिति में छात्र-छात्राएं बड़ी संख्या में प्रतिदिन महाविद्यालय में उपस्थित हो रहे हैं। जहां सामाजिक दूरी और मास्क (mask) से संक्रमण की रोकथाम के लिए दिशा निर्देशों का पालन संभव नहीं हो पा रहा है। वही प्रांत अध्यक्ष त्यागी ने पत्र में लिखा है कि महाविद्यालय में संक्रमित छात्र छात्रा और शिक्षक कर्मचारियों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसी स्थिति में संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाने होंगे।

वहीं उन्होंने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (anandiben patel) को पत्र लिखते हुए मांग की है कि महाविद्यालय में जारी ऑफलाइन प्रायोगिक परीक्षा (practical exam) स्थगित करने का कष्ट करें और साथ ही सैद्धांतिक परीक्षा (theoritical exam) पेपर मोड (paper mode) में ना लेकर अन्य विकल्प पर विचार किया जाए। वही पीड़ित शिक्षक और कर्मचारी के लिए विशेष मांग करते हुए प्रांत अध्यक्ष कैलाश त्यागी ने राज्यपाल से मांग की है कि अन्य राज्यों के समान मध्यप्रदेश में भी संक्रमित हुए शिक्षकों कर्मचारियों को 30 दिन का विशेष अवकाश स्वीकृत करने का प्रावधान किया जाए।