MP Corona: फिर बढ़े कोरोना के केस, आज मिले 16 पॉजिटिव, इन जिलों की हालत गंभीर

Mp corona: हालांकि अक्टूबर महीने में स्वस्थ होने वाली मरीजों की संख्या 202 रिकॉर्ड की गई है।

dewas

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में कोरोना (MP Corona) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सरकार द्वारा लगातार प्रदेशवासियों को सतर्क रहने की हिदायत दी जा रही है। शनिवार 31 october को प्रदेश में 16 नए मामले (corona cases) सामने आए हैं। सबसे ज्यादा मामले इंदौर (indore) में रिकॉर्ड किए गए हैं। इसके अलावा राजधानी भोपाल और बालाघाट से भी कोरोना के मामले सामने आए हैं।

31 अक्टूबर शनिवार को प्रदेश में 16 नए पॉजिटिव मिले हैं। जिसमें इंदौर में सबसे ज्यादा 8, भोपाल-बालाघाट में दो-दो सागर और धार में 1-1 मरीजों की पुष्टि हुई है। हालांकि राहत की बात यह है कि 8 स्वस्थ होकर घर वापस भी लौट आए हैं।

दरअसल अक्टूबर महीने में प्रदेश के 24 जिलों में संक्रमण की रफ्तार फैली है। 31 दिन के भीतर 317 मरीजों की पुष्टि हुई है। इन सबसे ज्यादा case राजधानी भोपाल में 125 रिकॉर्ड किए गए हैं। इसके अलावा इंदौर में 78, धार में 25 मरीजों की पुष्टि हुई है। हालांकि अक्टूबर महीने में स्वस्थ होने वाली मरीजों की संख्या 202 रिकॉर्ड की गई है।

Read More: गलती SAHARA की, सजा हमें क्यों! एजेंटों की सरकार से गुहार, हाई कोर्ट में दायर करेंगे Petition

वहीं प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 115 रह गई है। भोपाल में 125 इंदौर में 78, धार में 25, सागर में 15 , जबलपुर में 13, नरसिंहगढ़ होशंगाबाद में 8-8 पन्ना, बालाघाट सहित खंडवा, शहडोल और शिवपुरी में भी संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है।

वहीँ बालाघाट में कोरोना संक्रमण रोकने दीपावली पर्व पर बाहर से आने वाले लोगों पर निगरानी रखने सर्वेक्षण टीम गठित हुई है। 01 से 15 नवंबर तक सर्वेक्षण दल प्रतिदिन प्रवासी लोगों की जानकारी एकत्र करेंगें। दीपावली त्यौहार के अवसर पर जिले के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अन्य प्रदेशों एवं शहरों से प्रवासी लोगों के आने के कारण जिले में कोरोना सक्रमण फैल सकता है। जिसके मद्देनजर ये तैयारी की गई है।

बता दे कि प्रदेश में अब तक 7 लाख 92 हजार 844 संक्रमित मिले हैं। जिनमें से 7 लाख 82 हजार 205 स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटे हैं। कोरोना के कारण 10,524 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। वही पॉजिटिविटी रेट 0.01% रिकॉर्ड कर गई है जबकि रिकवरी रेट 98.60% है।