MP: कोरोना के बीच संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा

530

भोपाल।

लॉकडाउन (lockdown) के Unlock 1.0 होते ही संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ मप्र (Contract Health Employees Union MP) ने शिवराज सरकार(shivraj sarakar) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मांगे पूरी ना होने के चलते संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा आज 05 जून को काले दिवस के रुप में मनाया जा रहा है।आज प्रदेशभऱ में कोरोना से दिनरात जंग लड़ रहे 19000 संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी द्वारा प्रदर्शन किया जाएगा।

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ मप्र के प्रांताध्यक्ष सौरभ सिंह चौहान का कहना है कि समस्त संविदा कर्मचारियों को समकक्ष नियमित कर्मचारी के वेतन का 90 प्रतिशत एवं अन्य सुविदाएं प्रदान की गई थी, जिसे शासन आज दिनांक तक लागू नहीं कर पाया है।संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी जान पर खेलकर लोगों की जान बचा रहे हैं, विपदा की घड़ी में पूरी ईमानदारी और लगन से देश की सेवा कर रहे हैं, लेकिन इसके वाबजूद भी कर्मचारियों को संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के लिए बनाई गई नीतियों का लाभ नहीं मिल रहा है ।वही संविदाकर्मियों का आरोप है कि मुख्यमंत्री कोविड 19 कल्याण *योजना से संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी हैं वंचित,नहीं दी जा रही 10,000/- की अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि बिना बीमा,पेंशन,अनुकम्पा,सामाजिक सुरक्षा,मंहगाई-दैनिक भत्ते औरनियमित की तुलना में आधे वेतन में काम कर रहे हैं।सरकार स्वयं के द्वारा निर्मित और पारित हो चुके नियमों का पालन कराने में पूर्णतः नाकाम और असफल है।

इन मांगो को लेकर आक्रोश
नियमितीकरण न किये जाने , सामान्य प्रशासन की संविदा नीति,नियमित समकक्ष पद 90 प्रतिशत वेतनमान राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में 2 साल बीत जाने के बाद भी लागू न होने से संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों में सरकार के प्रति आक्रोश व्याप्त है।

विरोध में ये लोग होंगे शामिल

इसके लिए संविदा चिकित्सक, नर्स,फार्मासिस्ट,लैब टेक्नीशियन, एएनएम,प्रबन्धनइकाइयां,ऑपरेटर,आयुष,एड्स,टीबी परियोजना के समस्त कर्मचारी होंगे शामिल काला मास्क,काली पट्टी,काला चश्मा पहनकर काम कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here