MP Flood: CM शिवराज ने PM मोदी से की चर्चा, एयरफोर्स आज से करेगी बाढ़ग्रस्त इलाके से रेस्क्यू

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में अतिवृष्टि (Heavy Rain) के कारण कुछ क्षेत्रों में बाढ़ (Flood) की स्थिति से निपटने और आमजन को सुरक्षित जगह पहुंचाने का काम प्रशासन ने शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हेलीकॉप्टर (Helicopter) से जायजा भी लिया। मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी जिलों में प्रशासन व पुलिस अधिकारियों ने प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर अतिवृष्टि एवं बाढ़ प्रभावित इलाकों में 170 राहत शिविर लगाए गए हैं। वहीं मुख्यमंत्री ने आज रविवार सुबह प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) से बात कर प्रदेश की बाढ़ की स्थिति से अवगत करवाया है। बाढ़ में फंसे लोगों को रेस्क्यू करने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से 5 हेलीकाप्टर की मांग भी की है।

12 जिलों के 412 गाओं बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित

प्रदेश में बाढ़ की स्थिति के बारेमे बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा की, पूरा प्रशासन और मैं पूरी रात राहत और बचाव कार्य मे लगे रहे। उन्होंने कहा कि हमने जान का नुकसान नही होने दिया। मुख्यमंत्री ने कहा, प्रदेश के 12 जिलों के 412 गाओं बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित है। होशंगाबाद के कई इलाकों में पानी भरा हुआ है, कई नगर नर्मदा नदी की चपेट में है। मुख्यमंत्री ने बताया कि रात भर जो रेस्क्यू ऑपरेशन चले उसमे लगभग 8 हज़ार के आस पास लोगों की जाने बचाई गई है। उन्होंने बताया कि सीहोर जिले के नरेला में पेड़ पर बैठे हुए पंचों लोग रात में 2:30 बजे सुरक्षित निकाल दिए गए है।

एयर फोर्स संभालेगा मोर्चा

उन्होंने बताया कि आज सुबह से एयर फ़ोर्स (Air Force) प्रदेश में अपना ऑपरेशन शुरू करने जा रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आज सुबह उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से बात कर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति से उन्हें अवगत करवाया है। रात को मैने प्रधनमंत्री से सेना के 5 हेलीकॉप्टर मांगे थे, उन्होंने बताया कि उसमें से तीन हेलीकॉप्टर टेकऑफ कर चुके है दो की और तैयारी है। उन्होंने बताया बालाघाट जिले के कुलबी गाओं में फसें 4 लोगों में से 3 को सुरक्षित निकाल लिया गया है और एक कि तलाश एयर फोर्स का हेलीकॉप्टर कर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा एयरलिफ्ट कर हम फंसे हुए लोगों को निकलेंगे। उन्होंने कहा जहां जरूरत पड़ेगी वहां वायु सेना मदद करने को तत्पर है।

स्वयं सेवी संगठन मदद के हाथ बढ़ाए

उन्होंने कहा बाढ़ से घिरे सभी लोगों से अपील करता हूँ कि, प्रशासन के कहने पर वह लोग बाहर जरूर निकल आए। उन्होंने कहा इस आपदा से निपटने के लिए हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे, लेकिन इसमें लोगों के सहियोग की भी जरूरत है। वहीं उन्होंने समाज सेवी संस्थाओं और संगठनों से अपील की कि आपदा से निपटने के लिए सहियोग के हांथ बढ़ाए।